Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Jun 2023 · 1 min read

बुद्ध मैत्री है, ज्ञान के खोजी है।

बुद्ध मैत्री है,
ज्ञान के खोजी है,
अपनी कृपा बरसा गये है,
मार्ग दुखो से निवारण का,
मानव को बता गये है।

बुद्ध मैत्री है,
ज्ञान के खोजी है,
तप से बुद्धत्व पा गये है,
बुद्ध बनो बता गये है,
कल्याण करो बता गये है।

बुद्ध मैत्री है,
ज्ञान के खोजी है,
तृष्णा मे ना बंधो बता गये है,
अप्प दीपो बनो बता गये है,
उपदेश सुनो बता गये है।

बुद्ध मैत्री है,
ज्ञान के खोजी है,
धम्म का मार्ग बता गये है,
ज्ञान का दीप जला गये है,
निर्वाण मिलेगा बता गये है।

रचनाकर
बुद्ध प्रकाश,
मौदहा हमीरपुर।

2 Likes · 1 Comment · 460 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Buddha Prakash
View all
You may also like:
सुनो पहाड़ की....!!! (भाग - ७)
सुनो पहाड़ की....!!! (भाग - ७)
Kanchan Khanna
आंखन तिमिर बढ़ा,
आंखन तिमिर बढ़ा,
Mahender Singh
जिस्म से जान जैसे जुदा हो रही है...
जिस्म से जान जैसे जुदा हो रही है...
Sunil Suman
*माटी कहे कुम्हार से*
*माटी कहे कुम्हार से*
Harminder Kaur
हिन्दी पर हाइकू .....
हिन्दी पर हाइकू .....
sushil sarna
आँख दिखाना आपका,
आँख दिखाना आपका,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
सत्य तत्व है जीवन का खोज
सत्य तत्व है जीवन का खोज
Buddha Prakash
मैं दोस्तों से हाथ मिलाने में रह गया कैसे ।
मैं दोस्तों से हाथ मिलाने में रह गया कैसे ।
Neelam Sharma
लग रहा है बिछा है सूरज... यूँ
लग रहा है बिछा है सूरज... यूँ
Shweta Soni
ये संगम दिलों का इबादत हो जैसे
ये संगम दिलों का इबादत हो जैसे
VINOD CHAUHAN
खजुराहो
खजुराहो
Paramita Sarangi
हिदायत
हिदायत
Bodhisatva kastooriya
उनका शौक़ हैं मोहब्बत के अल्फ़ाज़ पढ़ना !
उनका शौक़ हैं मोहब्बत के अल्फ़ाज़ पढ़ना !
शेखर सिंह
" बेशुमार दौलत "
Chunnu Lal Gupta
होता ओझल जा रहा, देखा हुआ अतीत (कुंडलिया)
होता ओझल जा रहा, देखा हुआ अतीत (कुंडलिया)
Ravi Prakash
🙅मेरे विचार से🙅
🙅मेरे विचार से🙅
*Author प्रणय प्रभात*
2396.पूर्णिका
2396.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मेरा गांव
मेरा गांव
अनिल "आदर्श"
"भूल गए हम"
Dr. Kishan tandon kranti
युवा अंगार
युवा अंगार
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
शाहकार (महान कलाकृति)
शाहकार (महान कलाकृति)
Shekhar Chandra Mitra
काव्य
काव्य
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
बुला रही है सीता तुम्हारी, तुमको मेरे रामजी
बुला रही है सीता तुम्हारी, तुमको मेरे रामजी
gurudeenverma198
बात तो कद्र करने की है
बात तो कद्र करने की है
Surinder blackpen
आवाज़
आवाज़
Adha Deshwal
मुश्किलों से क्या
मुश्किलों से क्या
Dr fauzia Naseem shad
मैं एक महल हूं।
मैं एक महल हूं।
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
लम्हों की तितलियाँ
लम्हों की तितलियाँ
Karishma Shah
बेटियां बोझ नहीं होती
बेटियां बोझ नहीं होती
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
Loading...