Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Apr 2019 · 1 min read

बुद्धम और धम्म के रचैया..

बुद्धम और धम्म के रचइया….

आज भीम जन्मदिन मइया..
हम याद करैं सब भैय्या…
ओ…बुद्धम और धम्म के रचइया…

बुद्धम शरणम गच्छामि…
धम्म शरणम गच्छामि..
संघम शरणम गच्छामि… हो बुद्धम और धम्म..

जय भीम नाम से जलती है ये दुनिया…
आओ मिलके जहाँ को सबक ये सिखायें,
बुद्ध धर्म जो अपनाया भीम ने,
बुद्ध धर्म है शान हमारी
हम भी प्यारे क्यूँ न इसको अपनायें..
कोई न है हमारा खिवया….. बुद्धम और धम्म के …

बुद्धम शरणम गच्छामि…
धम्म शरणम गच्छामि..
संघम शरणम गच्छामि… हो बुद्धम और धम्म..

सभी गोलमेजों में पक्ष तेरा रखा,
प्यारे तूने उसको दिया भुलाई…..
जब उसका जीवन था खुशियाँ मनाने का,
तेरे लिए ले ली भीम ने जग से लड़ाई…
गाँधी को जीवन दान दे दिया,
मेरे भीम थे उनके प्राण बचैया…आज याद करें सब भैया..
बुद्धम और धम्म के रचैया….

बुद्धम शरणम गच्छामि…
धम्म शरणम गच्छामि..
संघम शरणम गच्छामि… हो बुद्धम और धम्म..

एक तरफ सारे मनुवादी,
भीमा अकेले थे उस रण भी भाई….
सभी विदेशों में छुट्टियां मनायें,
अकेले भीम ने दिया संविधान बनाई…
एक-एक पंक्ति में संविधान की,
लिख भीम ने दी अति सुंदर बनाई…..

बुद्धम शरणम गच्छामि…
धम्म शरणम गच्छामि..
संघम शरणम गच्छामि… हो बुद्धम और धम्म..

“आघात” आज बहुत याद है करता,
बाबा भीम के नाम पे है मरता ।
हम याद करें सब भैय्या….आयो भीम जन्मदिन मैय्या

बुद्धम और धम्म के रचैया…

बुद्धम शरणम गच्छामि…
धम्म शरणम गच्छामि..
संघम शरणम गच्छामि… हो बुद्धम और धम्म..

Language: Hindi
Tag: गीत
3 Likes · 215 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
पुश्तैनी दौलत
पुश्तैनी दौलत
Satish Srijan
*सुख-दुख में जीवन-भर साथी, कहलाते पति-पत्नी हैं【हिंदी गजल/गी
*सुख-दुख में जीवन-भर साथी, कहलाते पति-पत्नी हैं【हिंदी गजल/गी
Ravi Prakash
हार से डरता क्यों हैं।
हार से डरता क्यों हैं।
Yogi Yogendra Sharma : Motivational Speaker
सबला नारी
सबला नारी
आनन्द मिश्र
🙅आज का अनुभव🙅
🙅आज का अनुभव🙅
*प्रणय प्रभात*
खल साहित्यिकों का छलवृत्तांत / MUSAFIR BAITHA
खल साहित्यिकों का छलवृत्तांत / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
समर्पण
समर्पण
Sanjay ' शून्य'
अजीब सी चुभन है दिल में
अजीब सी चुभन है दिल में
हिमांशु Kulshrestha
2428.पूर्णिका
2428.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
लिखते हैं कई बार
लिखते हैं कई बार
Shweta Soni
* खूबसूरत इस धरा को *
* खूबसूरत इस धरा को *
surenderpal vaidya
गम के बगैर
गम के बगैर
Swami Ganganiya
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
परोपकार
परोपकार
Neeraj Agarwal
जो लिख रहे हैं वो एक मज़बूत समाज दे सकते हैं और
जो लिख रहे हैं वो एक मज़बूत समाज दे सकते हैं और
Sonam Puneet Dubey
कोई अपना
कोई अपना
Dr fauzia Naseem shad
तेज़ाब का असर
तेज़ाब का असर
Atul "Krishn"
"बहुत दिनों से"
Dr. Kishan tandon kranti
1 *मेरे दिल की जुबां, मेरी कलम से*
1 *मेरे दिल की जुबां, मेरी कलम से*
Dr Shweta sood
तुम हकीकत में वहीं हो जैसी तुम्हारी सोच है।
तुम हकीकत में वहीं हो जैसी तुम्हारी सोच है।
Rj Anand Prajapati
52 बुद्धों का दिल
52 बुद्धों का दिल
Mr. Rajesh Lathwal Chirana
अन्नदाता किसान
अन्नदाता किसान
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
" बंदिशें ज़ेल की "
Chunnu Lal Gupta
हकीकत
हकीकत
अखिलेश 'अखिल'
यदि आप सकारात्मक नजरिया रखते हैं और हमेशा अपना सर्वश्रेष्ठ प
यदि आप सकारात्मक नजरिया रखते हैं और हमेशा अपना सर्वश्रेष्ठ प
पूर्वार्थ
दो दोहे
दो दोहे
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
क्या मथुरा क्या काशी जब मन में हो उदासी ?
क्या मथुरा क्या काशी जब मन में हो उदासी ?
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
सुप्रभातम
सुप्रभातम
Ravi Ghayal
सेवा कार्य
सेवा कार्य
Mukesh Kumar Rishi Verma
सब तो उधार का
सब तो उधार का
Jitendra kumar
Loading...