Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Jan 2017 · 1 min read

बिटिया

मेरी एक कहानी बिटिया।
मेरे दिल की रानी बिटिया।।

उसकी चंचल बातें हर-इक।
याद मुझे जुबानी बिटिया।।

हर पल उसके साथ जिऊँ मैं।
वही मेरी जिंदगानी बिटिया।।

वो ही मेरी आँख का तारा।
वही परी आसमानी बिटिया।।

सुख असीम’ अनमोल मिले जब।
मुझे देख मुस्कानी बिटिया।।

आँँचल माँ,आकाश पिता का।
वह सर्वत्र समानी बिटिया।।

करूँ कामना और यही प्रार्थना।
हो हर घड़ी सुहानी बिटिया।।

***
नरेन्द्र श्रीवास्तव
पलोटन गंज,गाडरवारा,म.प्र.
मो.9993278808

1 Like · 1 Comment · 813 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बड़ा भोला बड़ा सज्जन हूँ दीवाना मगर ऐसा
बड़ा भोला बड़ा सज्जन हूँ दीवाना मगर ऐसा
आर.एस. 'प्रीतम'
दुनिया कैसी है मैं अच्छे से जानता हूं
दुनिया कैसी है मैं अच्छे से जानता हूं
Ranjeet kumar patre
जन्मदिन तुम्हारा!
जन्मदिन तुम्हारा!
bhandari lokesh
बदरा बरसे
बदरा बरसे
Dr. Kishan tandon kranti
Khud ke khalish ko bharne ka
Khud ke khalish ko bharne ka
Sakshi Tripathi
चंद्रकक्षा में भेज रहें हैं।
चंद्रकक्षा में भेज रहें हैं।
Aruna Dogra Sharma
*भाग्य विधाता देश के, शिक्षक तुम्हें प्रणाम (कुंडलिया)*
*भाग्य विधाता देश के, शिक्षक तुम्हें प्रणाम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
यही जीवन है ।
यही जीवन है ।
Rohit yadav
जिया ना जाए तेरे बिन
जिया ना जाए तेरे बिन
Basant Bhagawan Roy
एक गुल्लक रख रखी है मैंने,अपने सिरहाने,बड़ी सी...
एक गुल्लक रख रखी है मैंने,अपने सिरहाने,बड़ी सी...
पूर्वार्थ
आओ न! बचपन की छुट्टी मनाएं
आओ न! बचपन की छुट्टी मनाएं
डॉ० रोहित कौशिक
2553.पूर्णिका
2553.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
आप नहीं तो ज़िंदगी में भी कोई बात नहीं है
आप नहीं तो ज़िंदगी में भी कोई बात नहीं है
Yogini kajol Pathak
एक उलझन में हूं मैं
एक उलझन में हूं मैं
हिमांशु Kulshrestha
प्यार का रिश्ता
प्यार का रिश्ता
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
💐प्रेम कौतुक-402💐
💐प्रेम कौतुक-402💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
उल्फत अय्यार होता है कभी कबार
उल्फत अय्यार होता है कभी कबार
Vansh Agarwal
कितना आसान है न बुद्ध बनना, अपनी दूधमुंही संतान को और सोती ह
कितना आसान है न बुद्ध बनना, अपनी दूधमुंही संतान को और सोती ह
Neelam Sharma
" दीया सलाई की शमा"
Pushpraj Anant
रात का मायाजाल
रात का मायाजाल
Surinder blackpen
■ पता नहीं इतनी सी बात स्वयम्भू विश्वगुरुओं को समझ में क्यों
■ पता नहीं इतनी सी बात स्वयम्भू विश्वगुरुओं को समझ में क्यों
*Author प्रणय प्रभात*
दाना
दाना
Satish Srijan
........,
........,
शेखर सिंह
#अज्ञानी_की_कलम
#अज्ञानी_की_कलम
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
मैं नहीं तो, मेरा अंश ,काम मेरा यह करेगा
मैं नहीं तो, मेरा अंश ,काम मेरा यह करेगा
gurudeenverma198
पश्चाताप
पश्चाताप
DR ARUN KUMAR SHASTRI
चंद सिक्कों की खातिर
चंद सिक्कों की खातिर
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
ऐ महबूब
ऐ महबूब
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
तस्वीरों में मुस्कुराता वो वक़्त, सजा यादों की दे जाता है।
तस्वीरों में मुस्कुराता वो वक़्त, सजा यादों की दे जाता है।
Manisha Manjari
शाकाहार बनाम धर्म
शाकाहार बनाम धर्म
मनोज कर्ण
Loading...