Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 May 2018 · 1 min read

बिटिया

मम्मी की मैं जान हूँ,
पापा का अरमान हूँ।
भईया की मैं हूँ गुड़िया,
सबकी आफत की पुड़िया।
दादा-दादी की राजदुलारी,
नाना-नानी की बिटिया प्यारी।
सबका बनता मुझसे जहां,
सबकी लाडो हूँ मैं यहाँ।
आँखों में जो आँसू आये,
घरवालो की नींद उड़ाये।
मेरी हँसी हैं सबसे प्यारी,
माँ की बिटिया सबसे न्यारी।

Language: Hindi
5 Likes · 2 Comments · 562 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बुद्ध के बदले युद्ध
बुद्ध के बदले युद्ध
Shekhar Chandra Mitra
हमारे बाद भी चलती रहेगी बहारें
हमारे बाद भी चलती रहेगी बहारें
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
फ़ितरत अपनी अपनी...
फ़ितरत अपनी अपनी...
डॉ.सीमा अग्रवाल
"प्यासा" "के गजल"
Vijay kumar Pandey
#लघु_कविता-
#लघु_कविता-
*प्रणय प्रभात*
बड़े हो गए अब बेचारे नहीं।
बड़े हो गए अब बेचारे नहीं।
सत्य कुमार प्रेमी
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
काश अभी बच्चा होता
काश अभी बच्चा होता
साहिल
रंगोली
रंगोली
Neelam Sharma
हर हक़ीक़त को
हर हक़ीक़त को
Dr fauzia Naseem shad
सौभाग्य मिले
सौभाग्य मिले
Pratibha Pandey
शिक्षक हमारे देश के
शिक्षक हमारे देश के
Bhaurao Mahant
रमेशराज के 7 मुक्तक
रमेशराज के 7 मुक्तक
कवि रमेशराज
सब बिकाऊ है
सब बिकाऊ है
Dr Mukesh 'Aseemit'
पेड़ और नदी की गश्त
पेड़ और नदी की गश्त
Anil Kumar Mishra
"लेखनी"
Dr. Kishan tandon kranti
सोच
सोच
Shyam Sundar Subramanian
बात बनती हो जहाँ,  बात बनाए रखिए ।
बात बनती हो जहाँ, बात बनाए रखिए ।
Rajesh Tiwari
कत्ल खुलेआम
कत्ल खुलेआम
Diwakar Mahto
* straight words *
* straight words *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
न‌ वो बेवफ़ा, न हम बेवफ़ा-
न‌ वो बेवफ़ा, न हम बेवफ़ा-
Shreedhar
तुझे भूलना इतना आसां नही है
तुझे भूलना इतना आसां नही है
Bhupendra Rawat
3115.*पूर्णिका*
3115.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
दोहा
दोहा
गुमनाम 'बाबा'
*महाराज श्री अग्रसेन को, सौ-सौ बार प्रणाम है  【गीत】*
*महाराज श्री अग्रसेन को, सौ-सौ बार प्रणाम है 【गीत】*
Ravi Prakash
जन्म दिवस
जन्म दिवस
Aruna Dogra Sharma
सारी उमर तराशा,पाला,पोसा जिसको..
सारी उमर तराशा,पाला,पोसा जिसको..
Shweta Soni
उदयमान सूरज साक्षी है ,
उदयमान सूरज साक्षी है ,
Vivek Mishra
तन पर तन के रंग का,
तन पर तन के रंग का,
sushil sarna
यूं कौन जानता है यहां हमें,
यूं कौन जानता है यहां हमें,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
Loading...