Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Feb 5, 2022 · 1 min read

बारिश

आकाश में छाए वारिधर
चल रही हैं प्रताप बयारे
क्षणप्रभा कड़क रही …
क्षितिज भी देखो गुर्रा रहें
वृष्टि की बूंदे छोटी- छोटी
गिरने लगी धराधर त्वरित
पाँख को नर्तकप्रिय फैलाएं
चित्ताकर्षक- सी करती वो
रहती अपनी नित्य भंगिमा
वर्षा में कैसी दिखती चित्र ?
जलाशय, पुष्कर, ताल में
जल ही जल भरे हुए रहते
विद्यमान तस हो जलमग्न
मेंढक खुशी-खुशी टर टराते
साथ ही मधुर – मधुर स्वर में
होते मग्न हर एक प्राणिवान
बच्चे – बूढ़े के संग किसान
बारिश से सब होते प्रमुदित
उच्चार झूम-झूम गिरे बयारे
लाती हरियाली बढ़ चली
चितवन की ओर ऊंघते
मुंह किए घटित ये घटाएं ,
फोटो भी खींच रहें कौन हुंकार ?
यह मौसम होता बड़ा मनोहर ।

अमरेश कुमार वर्मा
जवाहर नवोदय विद्यालय बेगूसराय बिहार

286 Views
You may also like:
#धरती-सावन
आर.एस. 'प्रीतम'
*अग्रसेन को नमन (घनाक्षरी)*
Ravi Prakash
महताब ने भी मुंह फेर लिया है।
Taj Mohammad
वो राधा से फिर न मिला ।
शक्ति राव मणि
#मजबूरी
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
जो भी संजोग बने संभालो खुद को....
Dr.Alpa Amin
कभी मिलोगी तब सुनाऊँगा ---- ✍️ मुन्ना मासूम
मुन्ना मासूम
दर्द पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
हमारे जीवन में "पिता" का साया
इंजी. लोकेश शर्मा (लेखक)
'मेरी यादों में अब तक वे लम्हे बसे'
Rashmi Sanjay
✍️मी फिनिक्स...!✍️
'अशांत' शेखर
"शौर्य"
Lohit Tamta
ख्वाब तो यही देखा है
gurudeenverma198
【22】 तपती धरती करे पुकार
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
चाय की चुस्की
श्री रमण 'श्रीपद्'
💐💐स्वरूपे कोलाहल: नैव💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
गुरू गोविंद
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
तुम्हारी जुदाई ने।
Taj Mohammad
खुशनुमा ही रहे, जिंदगी दोस्तों।
सत्य कुमार प्रेमी
मृत्यु
AMRESH KUMAR VERMA
बदरिया
Dhirendra Panchal
“ गोलू क जन्म दिन “
DrLakshman Jha Parimal
उम्मीद पर है जिन्दगी
Anamika Singh
कल्पना
Anamika Singh
रात में सो मत देरी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
नेता और मुहावरा
सूर्यकांत द्विवेदी
रुक क्यों जाता हैं
Taran Singh Verma
साहब का कुत्ता (हास्य व्यंग्य कहानी)
दुष्यन्त 'बाबा'
मजदूरों का जीवन।
Anamika Singh
चाहे मत छूने दो मुझको
gurudeenverma198
Loading...