Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Oct 2022 · 1 min read

बात क्या है जो नयन बहने लगे

गीत….

बात क्या है जो नयन बहने लगे
दर्द मन का वह वही कहने लगे
रुक गए हैं कोर में वो इस तरह
ज्यों बनाकर घर वहाँ रहने लगे
बात क्या है जो नयन बहने लगे
दर्द मन का वह वही कहने लगे…..

तुम मिले ऐसा लगा कोई मिला
फूल बागों में नया जैसे खिला
लग गये देने झरोखों से खुशी
स्वप्न मन में तब नये पलने लगे
बात क्या है जो नयन बहने लगे
दर्द मन का वह वही कहने लगे…..

कल्पनाएं कह रही थी हो वही
मानता जिसको रहा हूँ मैं सही
देखता मैं रह गया प्रतिबिंब को
बिंब उनके फिर मुझे छलने लगे
बात क्या है जो नयन बहने लगे
दर्द मन का वह वही कहने लगे…..

यूँ लगा जैसे कहीं सब खो गया
और मैं उलझन लपेटे सो गया
जिंदगी की दौड़ में चलते हुए
व्यंग्य की कड़वाहटें सहने लगे
बात क्या है जो नयन बहने लगे
दर्द मन का वह वही कहने लगे….

जानते जो हैं नहीं अहसास को
तोड़ते अक्सर वही विश्वास को
थे हिमालय जो बने उम्मीद के
ताप पड़ते ही जरा गलने लगे
बात क्या है जो नयन बहने लगे
दर्द मन का वह वही कहने लगे…..

डाॅ. राजेन्द्र सिंह ‘राही’
(बस्ती उ. प्र.)

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Like · 157 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
प्रेम की पेंगें बढ़ाती लड़की / मुसाफ़िर बैठा
प्रेम की पेंगें बढ़ाती लड़की / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
■ जैसा देश, वैसा भेष।
■ जैसा देश, वैसा भेष।
*Author प्रणय प्रभात*
गिरते-गिरते गिर गया, जग में यूँ इंसान ।
गिरते-गिरते गिर गया, जग में यूँ इंसान ।
Arvind trivedi
बादलों की उदासी
बादलों की उदासी
Shweta Soni
"अहम का वहम"
Dr. Kishan tandon kranti
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मैं गीत हूं ग़ज़ल हो तुम न कोई भूल पाएगा।
मैं गीत हूं ग़ज़ल हो तुम न कोई भूल पाएगा।
सत्य कुमार प्रेमी
एकाकीपन
एकाकीपन
Shyam Sundar Subramanian
गरीब–किसान
गरीब–किसान
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
🌹खूबसूरती महज....
🌹खूबसूरती महज....
Dr Shweta sood
पिया बिन सावन की बात क्या करें
पिया बिन सावन की बात क्या करें
Devesh Bharadwaj
राम आएंगे
राम आएंगे
Neeraj Agarwal
मां, तेरी कृपा का आकांक्षी।
मां, तेरी कृपा का आकांक्षी।
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
मोहब्बत
मोहब्बत
अखिलेश 'अखिल'
Kabhi kabhi hum
Kabhi kabhi hum
Sakshi Tripathi
हे कलम तुम कवि के मन का विचार लिखो।
हे कलम तुम कवि के मन का विचार लिखो।
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
जीवन के रास्ते हैं अनगिनत, मौका है जीने का हर पल को जीने का।
जीवन के रास्ते हैं अनगिनत, मौका है जीने का हर पल को जीने का।
पूर्वार्थ
23/123.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/123.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बच्चों को बच्चा रहने दो
बच्चों को बच्चा रहने दो
Manu Vashistha
ताप संताप के दोहे. . . .
ताप संताप के दोहे. . . .
sushil sarna
#लाश_पर_अभिलाष_की_बंसी_सुखद_कैसे_बजाएं?
#लाश_पर_अभिलाष_की_बंसी_सुखद_कैसे_बजाएं?
संजीव शुक्ल 'सचिन'
उसकी सौंपी हुई हर निशानी याद है,
उसकी सौंपी हुई हर निशानी याद है,
Vishal babu (vishu)
*लाल हैं कुछ हरी, सावनी चूड़ियॉं (हिंदी गजल)*
*लाल हैं कुछ हरी, सावनी चूड़ियॉं (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
Started day with the voice of nature
Started day with the voice of nature
Ankita Patel
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
भगतसिंह की जवानी
भगतसिंह की जवानी
Shekhar Chandra Mitra
इश्क़ किया नहीं जाता
इश्क़ किया नहीं जाता
Surinder blackpen
यदि आपका स्वास्थ्य
यदि आपका स्वास्थ्य
Paras Nath Jha
तलाशती रहती हैं
तलाशती रहती हैं
हिमांशु Kulshrestha
खालीपन
खालीपन
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
Loading...