Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Jul 2023 · 1 min read

बहुत अहमियत होती है लोगों की

बहुत अहमियत होती है लोगों की
जिनसे हमनें कुछ भी सीखा है
तुम खुद ही सोचो
कितनी खास होगी हमारी
तुमसे तो इश्क सीखा है
Shiv Pratap Lodhi

266 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from शिव प्रताप लोधी
View all
You may also like:
जीवन के रूप (कविता संग्रह)
जीवन के रूप (कविता संग्रह)
Pakhi Jain
बुंदेली दोहा- पैचान१
बुंदेली दोहा- पैचान१
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
"शीशा और रिश्ता"
Dr. Kishan tandon kranti
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
सब वर्ताव पर निर्भर है
सब वर्ताव पर निर्भर है
Mahender Singh
हंसी आयी है लबों पर।
हंसी आयी है लबों पर।
Taj Mohammad
"किसान"
Slok maurya "umang"
समय के झूले पर
समय के झूले पर
पूर्वार्थ
बात सीधी थी
बात सीधी थी
Dheerja Sharma
नारी
नारी
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
बाल कविता: मछली
बाल कविता: मछली
Rajesh Kumar Arjun
■ बस एक ही सवाल...
■ बस एक ही सवाल...
*प्रणय प्रभात*
ये आँखें तेरे आने की उम्मीदें जोड़ती रहीं
ये आँखें तेरे आने की उम्मीदें जोड़ती रहीं
Kailash singh
कहानी- 'भूरा'
कहानी- 'भूरा'
Pratibhasharma
धुएं के जद में समाया सारा शहर पूछता है,
धुएं के जद में समाया सारा शहर पूछता है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
बहर-ए-ज़मज़मा मुतदारिक मुसद्दस मुज़ाफ़
बहर-ए-ज़मज़मा मुतदारिक मुसद्दस मुज़ाफ़
sushil yadav
खुल जाता है सुबह उठते ही इसका पिटारा...
खुल जाता है सुबह उठते ही इसका पिटारा...
shabina. Naaz
अति मंद मंद , शीतल बयार।
अति मंद मंद , शीतल बयार।
Kuldeep mishra (KD)
जीवन में कितना ही धन -धन कर ले मनवा किंतु शौक़ पत्रिका में न
जीवन में कितना ही धन -धन कर ले मनवा किंतु शौक़ पत्रिका में न
Neelam Sharma
इतना कभी ना खींचिए कि
इतना कभी ना खींचिए कि
Paras Nath Jha
स्वप्न कुछ
स्वप्न कुछ
surenderpal vaidya
मैं आदमी असरदार हूं - हरवंश हृदय
मैं आदमी असरदार हूं - हरवंश हृदय
हरवंश हृदय
हरित - वसुंधरा।
हरित - वसुंधरा।
Anil Mishra Prahari
आ लौट के आजा टंट्या भील
आ लौट के आजा टंट्या भील
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
अहमियत इसको
अहमियत इसको
Dr fauzia Naseem shad
हे ईश्वर किसी की इतनी भी परीक्षा न लें
हे ईश्वर किसी की इतनी भी परीक्षा न लें
Gouri tiwari
*आई भादों अष्टमी, कृष्ण पक्ष की रात (कुंडलिया)*
*आई भादों अष्टमी, कृष्ण पक्ष की रात (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
छत्तीसगढ़ के युवा नेता शुभम दुष्यंत राणा Shubham Dushyant Rana
छत्तीसगढ़ के युवा नेता शुभम दुष्यंत राणा Shubham Dushyant Rana
Bramhastra sahityapedia
2456.पूर्णिका
2456.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
प्यार तो हम में और हमारे चारों ओर होना चाहिए।।
प्यार तो हम में और हमारे चारों ओर होना चाहिए।।
शेखर सिंह
Loading...