Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Jul 2021 · 1 min read

बहारें फिर न आएंगी

किसी को प्यार
दीजिए!
किसी से प्यार
लीजिए!
ये जवानी फ़िर
नहीं आएगी
मत इसे बेकार
कीजिए!!
#Geetkar
Shekhar Chandra Mitra

Language: Hindi
Tag: गीत
216 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
व्यथा पेड़ की
व्यथा पेड़ की
विजय कुमार अग्रवाल
बस अणु भर मैं बस एक अणु भर
बस अणु भर मैं बस एक अणु भर
Atul "Krishn"
सपने
सपने
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
सुप्रभात
सुप्रभात
डॉक्टर रागिनी
जिसके पास क्रोध है,
जिसके पास क्रोध है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
2857.*पूर्णिका*
2857.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
रंग भरी पिचकारियाँ,
रंग भरी पिचकारियाँ,
sushil sarna
आज भी
आज भी
Dr fauzia Naseem shad
बरसें प्रभुता-मेह...
बरसें प्रभुता-मेह...
डॉ.सीमा अग्रवाल
गीत
गीत
जगदीश शर्मा सहज
दोस्त ना रहा ...
दोस्त ना रहा ...
Abasaheb Sarjerao Mhaske
*स्वच्छ रहेगी गली हमारी (बाल कविता)*
*स्वच्छ रहेगी गली हमारी (बाल कविता)*
Ravi Prakash
चश्मा साफ़ करते हुए उस बुज़ुर्ग ने अपनी पत्नी से कहा :- हमार
चश्मा साफ़ करते हुए उस बुज़ुर्ग ने अपनी पत्नी से कहा :- हमार
Rituraj shivem verma
हम मिले थे जब, वो एक हसीन शाम थी
हम मिले थे जब, वो एक हसीन शाम थी
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
* राष्ट्रभाषा हिन्दी *
* राष्ट्रभाषा हिन्दी *
surenderpal vaidya
जीवन साथी,,,दो शब्द ही तो है,,अगर सही इंसान से जुड़ जाए तो ज
जीवन साथी,,,दो शब्द ही तो है,,अगर सही इंसान से जुड़ जाए तो ज
Shweta Soni
हमसफ़र
हमसफ़र
अखिलेश 'अखिल'
" हैं पलाश इठलाये "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
सुस्ता लीजिये थोड़ा
सुस्ता लीजिये थोड़ा
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
"गारा"
Dr. Kishan tandon kranti
मुहब्बत सचमें ही थी।
मुहब्बत सचमें ही थी।
Taj Mohammad
बांध रखा हूं खुद को,
बांध रखा हूं खुद को,
Shubham Pandey (S P)
यह गोकुल की गलियां,
यह गोकुल की गलियां,
कार्तिक नितिन शर्मा
गैरों से कोई नाराजगी नहीं
गैरों से कोई नाराजगी नहीं
Harminder Kaur
!..............!
!..............!
शेखर सिंह
जीवन के उपन्यास के कलाकार हैं ईश्वर
जीवन के उपन्यास के कलाकार हैं ईश्वर
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
5) कब आओगे मोहन
5) कब आओगे मोहन
पूनम झा 'प्रथमा'
*** यादों का क्रंदन ***
*** यादों का क्रंदन ***
Dr Manju Saini
इंसान को,
इंसान को,
नेताम आर सी
पितृ स्वरूपा,हे विधाता..!
पितृ स्वरूपा,हे विधाता..!
मनोज कर्ण
Loading...