Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Nov 2016 · 1 min read

बहकते हैं अक्सर वो जिन्हें प्यार नही होता

ढूंढते हैं वजह वो जिन्हें ऐतबार नही होता
बहकते हैं अक्सर वो जिन्हें प्यार नही होता
*****************************
रहते हैं इक दूसरे के तसव्वुर में जो हरदम
उनके ही दर्मियाँ अक्सर तकरार नही होता
****************************
कपिल कुमार
08/11/2016

Language: Hindi
197 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
समान आचार संहिता
समान आचार संहिता
Bodhisatva kastooriya
💐प्रेम कौतुक-556💐
💐प्रेम कौतुक-556💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बुद्ध पुर्णिमा
बुद्ध पुर्णिमा
Satish Srijan
मैं कौन हूं
मैं कौन हूं
प्रेमदास वसु सुरेखा
अमिट सत्य
अमिट सत्य
विजय कुमार अग्रवाल
कहते हैं संसार में ,
कहते हैं संसार में ,
sushil sarna
क्यों नहीं देती हो तुम, साफ जवाब मुझको
क्यों नहीं देती हो तुम, साफ जवाब मुझको
gurudeenverma198
कविता : चंद्रिका
कविता : चंद्रिका
Sushila joshi
वो कुछ इस तरह रिश्ता निभाया करतें हैं
वो कुछ इस तरह रिश्ता निभाया करतें हैं
शिव प्रताप लोधी
कविता
कविता
Rambali Mishra
■ विडंबना-
■ विडंबना-
*Author प्रणय प्रभात*
Under this naked sky, I wish to hold you in my arms tight.
Under this naked sky, I wish to hold you in my arms tight.
Manisha Manjari
विजय हजारे
विजय हजारे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
2571.पूर्णिका
2571.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
सावन तब आया
सावन तब आया
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
प्रभु ने बनवाई रामसेतु माता सीता के खोने पर।
प्रभु ने बनवाई रामसेतु माता सीता के खोने पर।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
यादों के अथाह में विष है , तो अमृत भी है छुपी हुई
यादों के अथाह में विष है , तो अमृत भी है छुपी हुई
Atul "Krishn"
लुटा दी सब दौलत, पर मुस्कान बाकी है,
लुटा दी सब दौलत, पर मुस्कान बाकी है,
Rajesh Kumar Arjun
*नेता टुटपुंजिया हुआ, नेता है मक्कार (कुंडलिया)*
*नेता टुटपुंजिया हुआ, नेता है मक्कार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
My Precious Gems
My Precious Gems
Natasha Stephen
আমি তোমাকে ভালোবাসি
আমি তোমাকে ভালোবাসি
Otteri Selvakumar
न मौत आती है ,न घुटता है दम
न मौत आती है ,न घुटता है दम
Shweta Soni
तुम से सुबह, तुम से शाम,
तुम से सुबह, तुम से शाम,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
क्राई फॉर लव
क्राई फॉर लव
Shekhar Chandra Mitra
बाल बिखरे से,आखें धंस रहीं चेहरा मुरझाया सा हों गया !
बाल बिखरे से,आखें धंस रहीं चेहरा मुरझाया सा हों गया !
The_dk_poetry
शिवा कहे,
शिवा कहे, "शिव" की वाणी, जन, दुनिया थर्राए।
SPK Sachin Lodhi
"वसन्त"
Dr. Kishan tandon kranti
दुख
दुख
Rekha Drolia
सुप्त तरुण निज मातृभूमि को हीन बनाकर के विभेद दें।
सुप्त तरुण निज मातृभूमि को हीन बनाकर के विभेद दें।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Loading...