Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Jun 2023 · 1 min read

बरसातें सबसे बुरीं (कुंडलिया )

बरसातें सबसे बुरीं (कुंडलिया )
“””””””””””””””””””””””””””””””””””‘”””””””””
बरसातें सबसे बुरीं ,चिप- चिप हुआ शरीर
बारिश जैसे ही रुकी , गर्मी फिर गंभीर
गर्मी फिर गंभीर , चौगुने मच्छर छाए
कीड़े-कीट-पतंग ,न जाने क्या-क्या आए
कहते रवि कविराय ,चैन के दिन कब रातें
बुरे फॅंसे हे राम , मुसीबत हैं बरसातें
“””””””””””””””””””‘””””””””””””””””””””””””””””
रचयिता :रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर( उत्तर प्रदेश )
मोबाइल 99976 15451

341 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
💐प्रेम कौतुक-458💐
💐प्रेम कौतुक-458💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*माँ सरस्वती जी*
*माँ सरस्वती जी*
Rituraj shivem verma
तोंदू भाई, तोंदू भाई..!!
तोंदू भाई, तोंदू भाई..!!
Kanchan Khanna
*बोल*
*बोल*
Dushyant Kumar
रमेशराज की एक हज़ल
रमेशराज की एक हज़ल
कवि रमेशराज
टूटने का मर्म
टूटने का मर्म
Surinder blackpen
दिल रंज का शिकार है और किस क़दर है आज
दिल रंज का शिकार है और किस क़दर है आज
Sarfaraz Ahmed Aasee
सितम तो ऐसा कि हम उसको छू नहीं सकते,
सितम तो ऐसा कि हम उसको छू नहीं सकते,
Vishal babu (vishu)
उदासी एक ऐसा जहर है,
उदासी एक ऐसा जहर है,
लक्ष्मी सिंह
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
बे-आवाज़. . . .
बे-आवाज़. . . .
sushil sarna
इस दौर में सुनना ही गुनाह है सरकार।
इस दौर में सुनना ही गुनाह है सरकार।
Dr. ADITYA BHARTI
***संशय***
***संशय***
प्रेमदास वसु सुरेखा
#अमावसी_ग्रहण
#अमावसी_ग्रहण
*Author प्रणय प्रभात*
हकीकत  पर  तो  इख्तियार  है
हकीकत पर तो इख्तियार है
shabina. Naaz
मिलना हम मिलने आएंगे होली में।
मिलना हम मिलने आएंगे होली में।
सत्य कुमार प्रेमी
घंटा हिलाने वाली कौमें
घंटा हिलाने वाली कौमें
Shekhar Chandra Mitra
* लोकार्पण *
* लोकार्पण *
surenderpal vaidya
बिषय सदाचार
बिषय सदाचार
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
Ranjeet Kumar Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
यादें
यादें
Dr fauzia Naseem shad
शाश्वत और सनातन
शाश्वत और सनातन
Mahender Singh
खरी - खरी
खरी - खरी
Mamta Singh Devaa
मै स्त्री कभी हारी नही
मै स्त्री कभी हारी नही
dr rajmati Surana
"तोड़िए हद की दीवारें"
Dr. Kishan tandon kranti
2635.पूर्णिका
2635.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
हारो बेशक कई बार,हार के आगे झुको नहीं।
हारो बेशक कई बार,हार के आगे झुको नहीं।
Neelam Sharma
*चुनाव में उम्मीदवार (हास्य व्यंग्य)*
*चुनाव में उम्मीदवार (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
बेटियां
बेटियां
Mukesh Kumar Sonkar
नैनों में प्रिय तुम बसे....
नैनों में प्रिय तुम बसे....
डॉ.सीमा अग्रवाल
Loading...