Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Feb 2024 · 1 min read

बरकत का चूल्हा

हर घर में रोज जले बरकत का चूल्हा
प्रेम ,अपनत्व का सांझा चूल्हा **

मां तुम जमा लो चूल्हा
मैं तुम्हें ला दूंगा लकड़ी
अग्नि के तेज से तपा लो चूल्हा,
भूख लगी है ,बड़े जोर की
तुम मुझे बना कर देना
नरम और गरम रोटी।
मां की ममता के ताप से
मन को जो मिलेगी संतुष्टि
उससे बड़ी ना होगी कोई
खुशी कहीं ।
चूल्हे की ताप में जब पकता
भोजन महक जाता सारा घर
* हर घर में रोज जले बरकत
का चूल्हा ,प्रेम प्यार का सांझा चूल्हा *

अग्नि जीवन आधार

जीवन का आधार अग्नि
भोजन का सार अग्नि
जीवन में , शुभ –लाभ
पवान ,पवित्र,पूजनीय अग्नि
ज्योति अग्नि,हवन अग्नि
नकारात्मकता को मिटाती
दिव्य सकारात्मक अग्नि

सूर्य का तेज भी अग्नि
जिसके तेज से धरती पर
मनुष्य सभ्यता पनपती
अग्नि विहीन ना धरती
का अस्तित्व ।

अग्नि के रूप अनेक
प्रत्येक प्राणी में जीवन
बनकर रहती अग्नि।

प्रकाश का स्वरूप अग्नि
ज्ञान की अग्नि,विवेक की अग्नि
तन को जीवन देती जठराग्नि
अग्नि का संतुलन भी आव्यशक
ज्वलंत ,जीवन , अग्नि स्वयं प्रभा

Language: Hindi
67 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ritu Asooja
View all
You may also like:
किताबों में तुम्हारे नाम का मैं ढूँढता हूँ माने
किताबों में तुम्हारे नाम का मैं ढूँढता हूँ माने
आनंद प्रवीण
" नेतृत्व के लिए उम्र बड़ी नहीं, बल्कि सोच बड़ी होनी चाहिए"
नेताम आर सी
मां जैसा ज्ञान देते
मां जैसा ज्ञान देते
Harminder Kaur
नहीं, अब ऐसा नहीं हो सकता
नहीं, अब ऐसा नहीं हो सकता
gurudeenverma198
अंधकार जितना अधिक होगा प्रकाश का प्रभाव भी उसमें उतना गहरा औ
अंधकार जितना अधिक होगा प्रकाश का प्रभाव भी उसमें उतना गहरा औ
Rj Anand Prajapati
पेड़ लगाए पास में, धरा बनाए खास
पेड़ लगाए पास में, धरा बनाए खास
जगदीश लववंशी
उठो, जागो, बढ़े चलो बंधु...( स्वामी विवेकानंद की जयंती पर उनके दिए गए उत्प्रेरक मंत्र से प्रेरित होकर लिखा गया मेरा स्वरचित गीत)
उठो, जागो, बढ़े चलो बंधु...( स्वामी विवेकानंद की जयंती पर उनके दिए गए उत्प्रेरक मंत्र से प्रेरित होकर लिखा गया मेरा स्वरचित गीत)
डॉ.सीमा अग्रवाल
मां
मां
Sûrëkhâ
मच्छर दादा
मच्छर दादा
Dr Archana Gupta
2323.पूर्णिका
2323.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
विषय--विजयी विश्व तिरंगा
विषय--विजयी विश्व तिरंगा
रेखा कापसे
गर्म हवाओं ने सैकड़ों का खून किया है
गर्म हवाओं ने सैकड़ों का खून किया है
Anil Mishra Prahari
"जोकर"
Dr. Kishan tandon kranti
🥀*अज्ञानी की कलम*🥀
🥀*अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
रे ! मेरे मन-मीत !!
रे ! मेरे मन-मीत !!
Ramswaroop Dinkar
दोस्ती
दोस्ती
राजेश बन्छोर
International Hindi Day
International Hindi Day
Tushar Jagawat
*हिंदी दिवस*
*हिंदी दिवस*
Atul Mishra
भारत में सबसे बड़ा व्यापार धर्म का है
भारत में सबसे बड़ा व्यापार धर्म का है
शेखर सिंह
★मृदा में मेरी आस ★
★मृदा में मेरी आस ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
मन से हरो दर्प औ अभिमान
मन से हरो दर्प औ अभिमान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
- फुर्सत -
- फुर्सत -
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
🙅Fact🙅
🙅Fact🙅
*Author प्रणय प्रभात*
इस पार मैं उस पार तूँ
इस पार मैं उस पार तूँ
VINOD CHAUHAN
क्या कहना हिन्दी भाषा का
क्या कहना हिन्दी भाषा का
shabina. Naaz
मेरे अल्फाज़
मेरे अल्फाज़
Dr fauzia Naseem shad
*साइकिल (कुंडलिया)*
*साइकिल (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
विश्वगुरु
विश्वगुरु
Shekhar Chandra Mitra
राम का आधुनिक वनवास
राम का आधुनिक वनवास
Harinarayan Tanha
"कोहरा रूपी कठिनाई"
Yogendra Chaturwedi
Loading...