Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Jul 2023 · 1 min read

*बनाता स्वर्ग में जोड़ी, सुना है यह विधाता है (मुक्तक)*

बनाता स्वर्ग में जोड़ी, सुना है यह विधाता है (मुक्तक)
—————————————-
बनाता स्वर्ग में जोड़ी, सुना है यह विधाता है
जुड़ा संबंध जिस से भी, जनम-भर जुड़ ही जाता है
नहीं हैं लौटते पीछे, कदम जब भॉंवरें ले लीं
सदा से सात जन्मों का, अमिट बंधन कहता है
—————————-
रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर, उत्तर प्रदेश
मोबाइल 99976 15451

412 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
कोरे कागज पर...
कोरे कागज पर...
डॉ.सीमा अग्रवाल
*मर्यादा पुरूषोत्तम राम*
*मर्यादा पुरूषोत्तम राम*
Shashi kala vyas
सब बिकाऊ है
सब बिकाऊ है
Dr Mukesh 'Aseemit'
समय ही तो हमारी जिंदगी हैं
समय ही तो हमारी जिंदगी हैं
Neeraj Agarwal
"ममतामयी मिनीमाता"
Dr. Kishan tandon kranti
वक़्त के साथ
वक़्त के साथ
Dr fauzia Naseem shad
2490.पूर्णिका
2490.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
कहीं भूल मुझसे न हो जो गई है।
कहीं भूल मुझसे न हो जो गई है।
surenderpal vaidya
नीम
नीम
Dr. Pradeep Kumar Sharma
गौण हुईं अनुभूतियाँ,
गौण हुईं अनुभूतियाँ,
sushil sarna
इश्क पहली दफा
इश्क पहली दफा
साहित्य गौरव
डाकू आ सांसद फूलन देवी।
डाकू आ सांसद फूलन देवी।
Acharya Rama Nand Mandal
तोहमतें,रूसवाईयाँ तंज़ और तन्हाईयाँ
तोहमतें,रूसवाईयाँ तंज़ और तन्हाईयाँ
Shweta Soni
“अकेला”
“अकेला”
DrLakshman Jha Parimal
जो ये समझते हैं कि, बेटियां बोझ है कन्धे का
जो ये समझते हैं कि, बेटियां बोझ है कन्धे का
Sandeep Kumar
नारी
नारी
विजय कुमार अग्रवाल
■ आप आए, बहार आई ■
■ आप आए, बहार आई ■
*प्रणय प्रभात*
#drarunkumarshastei
#drarunkumarshastei
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कभी शांत कभी नटखट
कभी शांत कभी नटखट
Neelam Sharma
एक दिन उसने यूं ही
एक दिन उसने यूं ही
Rachana
मेरी घरवाली
मेरी घरवाली
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
खाने को पैसे नहीं,
खाने को पैसे नहीं,
Kanchan Khanna
🔥आँखें🔥
🔥आँखें🔥
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
आलस मेरी मोहब्बत है
आलस मेरी मोहब्बत है
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
संवेदना की आस
संवेदना की आस
Ritu Asooja
दासता
दासता
Bodhisatva kastooriya
लोगों के साथ सामंजस्य स्थापित करना भी एक विशेष कला है,जो आपक
लोगों के साथ सामंजस्य स्थापित करना भी एक विशेष कला है,जो आपक
Paras Nath Jha
कोहली किंग
कोहली किंग
पूर्वार्थ
चन्द्रयान तीन क्षितिज के पार🙏
चन्द्रयान तीन क्षितिज के पार🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
मेरा अभिमान
मेरा अभिमान
Aman Sinha
Loading...