Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Oct 2023 · 1 min read

बचपन, “बूढ़ा ” हो गया था,

बचपन, “बूढ़ा ” हो गया था,

जवानी का “बुढ़ापा” आने को है।

“बुढ़ापा” जन्म लेने को तैयार बैठा है।

इस बात की कशमकस में दिल जाने क्यों है।

1 Like · 148 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
धरा की प्यास पर कुंडलियां
धरा की प्यास पर कुंडलियां
Ram Krishan Rastogi
"Awakening by the Seashore"
Manisha Manjari
किराएदार
किराएदार
Satish Srijan
सद्ज्ञानमय प्रकाश फैलाना हमारी शान है।
सद्ज्ञानमय प्रकाश फैलाना हमारी शान है।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
अनसुलझे किस्से
अनसुलझे किस्से
Mahender Singh
एक गुलाब हो
एक गुलाब हो
हिमांशु Kulshrestha
💐प्रेम कौतुक-560💐
💐प्रेम कौतुक-560💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हुआ दमन से पार
हुआ दमन से पार
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
आवश्यक मतदान है
आवश्यक मतदान है
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
हिन्दी
हिन्दी
लक्ष्मी सिंह
मेरी नज़्म, शायरी,  ग़ज़ल, की आवाज हो तुम
मेरी नज़्म, शायरी, ग़ज़ल, की आवाज हो तुम
अनंत पांडेय "INϕ9YT"
जिंदगी भर हमारा साथ रहे जरूरी तो नहीं,
जिंदगी भर हमारा साथ रहे जरूरी तो नहीं,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
थोड़ा सा अजनबी बन कर रहना तुम
थोड़ा सा अजनबी बन कर रहना तुम
शेखर सिंह
*बुरा न मानो होली है 【बाल कविता 】*
*बुरा न मानो होली है 【बाल कविता 】*
Ravi Prakash
आँखों से काजल चुरा,
आँखों से काजल चुरा,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
3086.*पूर्णिका*
3086.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
काश अभी बच्चा होता
काश अभी बच्चा होता
साहिल
ज़िंदगी ख़ुद ब ख़ुद
ज़िंदगी ख़ुद ब ख़ुद
Dr fauzia Naseem shad
"चिढ़ अगर भीगने से है तो
*Author प्रणय प्रभात*
श्री कृष्ण जन्माष्टमी
श्री कृष्ण जन्माष्टमी
Neeraj Agarwal
तुम लौट आओ ना
तुम लौट आओ ना
Anju ( Ojhal )
मायापति की माया!
मायापति की माया!
Sanjay ' शून्य'
खोज सत्य की जारी है
खोज सत्य की जारी है
महेश चन्द्र त्रिपाठी
***
*** " मन मेरा क्यों उदास है....? " ***
VEDANTA PATEL
व्यथा दिल की
व्यथा दिल की
Devesh Bharadwaj
Kbhi kbhi lagta h ki log hmara fayda uthate hai.
Kbhi kbhi lagta h ki log hmara fayda uthate hai.
Sakshi Tripathi
वो कुछ इस तरह रिश्ता निभाया करतें हैं
वो कुछ इस तरह रिश्ता निभाया करतें हैं
शिव प्रताप लोधी
सुनो - दीपक नीलपदम्
सुनो - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
मैं समुद्र की गहराई में डूब गया ,
मैं समुद्र की गहराई में डूब गया ,
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
गुरूता बने महान ......!
गुरूता बने महान ......!
हरवंश हृदय
Loading...