Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Jul 2022 · 1 min read

‘फौजी होना आसान नहीं होता”

फौजी होना आसान नहीं होता,
सपने और अपनों को छोड़ना आसान नहीं होता,
क्योंकि रब हर किसी पर मेहरबान नहीं होता
फ़ौजी होना आसान नहीं होता।।
“लोहित टम्टा”

Language: Hindi
5 Likes · 3 Comments · 1141 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
अंग प्रदर्शन करने वाले जितने भी कलाकार है उनके चरित्र का अस्
अंग प्रदर्शन करने वाले जितने भी कलाकार है उनके चरित्र का अस्
Rj Anand Prajapati
धरती का बस एक कोना दे दो
धरती का बस एक कोना दे दो
Rani Singh
माना   कि  बल   बहुत  है
माना कि बल बहुत है
Paras Nath Jha
#एक_सराहनीय_पहल
#एक_सराहनीय_पहल
*Author प्रणय प्रभात*
"सहर देना"
Dr. Kishan tandon kranti
लफ्जों के सिवा।
लफ्जों के सिवा।
Taj Mohammad
उतर जाती है पटरी से जब रिश्तों की रेल
उतर जाती है पटरी से जब रिश्तों की रेल
हरवंश हृदय
वसंततिलका छन्द
वसंततिलका छन्द
Neelam Sharma
कड़ियों की लड़ी धीरे-धीरे बिखरने लगती है
कड़ियों की लड़ी धीरे-धीरे बिखरने लगती है
DrLakshman Jha Parimal
23/02.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
23/02.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
3) “प्यार भरा ख़त”
3) “प्यार भरा ख़त”
Sapna Arora
*संस्मरण*
*संस्मरण*
Ravi Prakash
"ईद-मिलन" हास्य रचना
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
किताब कहीं खो गया
किताब कहीं खो गया
Shweta Soni
पुलवामा अटैक
पुलवामा अटैक
लक्ष्मी सिंह
हिन्दी दिवस
हिन्दी दिवस
Ram Krishan Rastogi
बुद्ध पूर्णिमा के पावन पर्व पर आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं
बुद्ध पूर्णिमा के पावन पर्व पर आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं
डा गजैसिह कर्दम
पुष्पदल
पुष्पदल
sushil sarna
सुलगते एहसास
सुलगते एहसास
Surinder blackpen
घायल तुझे नींद आये न आये
घायल तुझे नींद आये न आये
Ravi Ghayal
हारे हुए परिंदे को अब सजर याद आता है
हारे हुए परिंदे को अब सजर याद आता है
कवि दीपक बवेजा
सत्ता की हवस वाले राजनीतिक दलों को हराकर मुद्दों पर समाज को जिताना होगा
सत्ता की हवस वाले राजनीतिक दलों को हराकर मुद्दों पर समाज को जिताना होगा
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
यादें .....…......मेरा प्यारा गांव
यादें .....…......मेरा प्यारा गांव
Neeraj Agarwal
अपनी शान के लिए माँ-बाप, बच्चों से ऐसा क्यों करते हैं
अपनी शान के लिए माँ-बाप, बच्चों से ऐसा क्यों करते हैं
gurudeenverma198
गुरु मेरा मान अभिमान है
गुरु मेरा मान अभिमान है
Harminder Kaur
इश्क़ है तो इश्क़ का इज़हार होना चाहिए
इश्क़ है तो इश्क़ का इज़हार होना चाहिए
पूर्वार्थ
उनसे कहना ज़रा दरवाजे को बंद रखा करें ।
उनसे कहना ज़रा दरवाजे को बंद रखा करें ।
Phool gufran
उसे आज़ का अर्जुन होना चाहिए
उसे आज़ का अर्जुन होना चाहिए
Sonam Puneet Dubey
तुम्हारा घर से चला जाना
तुम्हारा घर से चला जाना
Dheerja Sharma
Love is beyond all the limits .
Love is beyond all the limits .
Sakshi Tripathi
Loading...