Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Jul 2021 · 1 min read

🚩फूलों की वर्षा

💚
दिल बना मजबूत लोहा,ठोकरें खाकर जनाब।
अब घनों के वार भी फूलों की वर्षा से लगें।
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

पं बृजेश कुमार नायक

🥎 उक्त पंक्तियों को मेरी कृति/काव्यसंग्रह “पं बृजेश कुमार नायक की चुनिंदा रचनाएं” के द्वितीय संस्करण में भी पढ़ा जा सकता है।

🥎”पं बृजेश कुमार नायक की चुनिंदा रचनाएं” कृति का द्वितीय संस्करण साहित्यपीडिया पब्लिशिंग से प्रकाशित है और अमेजोन-फ्लिपकार्ट पर उपलब्ध है।

Language: Hindi
Tag: शेर
4 Likes · 2 Comments · 1058 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.

Books from Pt. Brajesh Kumar Nayak

You may also like:
दिल की जमीं से पलकों तक, गम ना यूँ ही आया होगा।
दिल की जमीं से पलकों तक, गम ना यूँ ही आया होगा।
डॉ.सीमा अग्रवाल
अगर ये सर झुके न तेरी बज़्म में ओ दिलरुबा
अगर ये सर झुके न तेरी बज़्म में ओ दिलरुबा
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
****शिरोमणि****
****शिरोमणि****
प्रेमदास वसु सुरेखा
★उसकी यादों का साया★
★उसकी यादों का साया★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
हर पति परमेश्वर नही होता
हर पति परमेश्वर नही होता
Kavita Chouhan
इजहार ए मोहब्बत
इजहार ए मोहब्बत
साहित्य गौरव
जब तक हो तन में प्राण
जब तक हो तन में प्राण
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
बेशक़ कमियाँ मुझमें निकाल
बेशक़ कमियाँ मुझमें निकाल
सिद्धार्थ गोरखपुरी
जिंदगी तेरी हर अदा कातिलाना है।
जिंदगी तेरी हर अदा कातिलाना है।
Surinder blackpen
बहुत कुछ अधूरा रह जाता है ज़िन्दगी में
बहुत कुछ अधूरा रह जाता है ज़िन्दगी में
शिव प्रताप लोधी
*जातिवाद का खण्डन*
*जातिवाद का खण्डन*
Dushyant Kumar
देख रहा था पीछे मुड़कर
देख रहा था पीछे मुड़कर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
चमत्कार को नमस्कार
चमत्कार को नमस्कार
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
जो नहीं दिखते वो दर्द होते हैं
जो नहीं दिखते वो दर्द होते हैं
Dr fauzia Naseem shad
जवाब दो हम सवाल देंगे।
जवाब दो हम सवाल देंगे।
सत्य कुमार प्रेमी
धोखा
धोखा
Sanjay
"चुम्बन"
Dr. Kishan tandon kranti
खूबसूरत है दुनियां _ आनंद इसका लेना है।
खूबसूरत है दुनियां _ आनंद इसका लेना है।
Rajesh vyas
Bachpan , ek umar nahi hai,
Bachpan , ek umar nahi hai,
Sakshi Tripathi
विचारमंच भाग -2
विचारमंच भाग -2
Rohit Kaushik
मन की भाषा
मन की भाषा
Satish Srijan
चांदनी की बरसात के साये में चलते
चांदनी की बरसात के साये में चलते
Dr. Rajiv
ज़रूरत
ज़रूरत
सतीश तिवारी 'सरस'
About [ Ranjeet Kumar Shukla ]
About [ Ranjeet Kumar Shukla ]
Ranjeet Kumar Shukla
"मदद"
*Author प्रणय प्रभात*
💐प्रेम कौतुक-371💐
💐प्रेम कौतुक-371💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अनेकों ज़ख्म ऐसे हैं कुछ अपने भी पराये भी ।
अनेकों ज़ख्म ऐसे हैं कुछ अपने भी पराये भी ।
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*कैकेई (कुंडलिया)*
*कैकेई (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
खोकर अपनों को यह जाना।
खोकर अपनों को यह जाना।
लक्ष्मी सिंह
रूठी बीवी को मनाने चले हो
रूठी बीवी को मनाने चले हो
Prem Farrukhabadi
Loading...