Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Aug 2023 · 2 min read

प्लास्टिक बंदी

प्लास्टिक बंदी

“क्या कहा ? तुम यहाँ मुख्यमंत्री जनदर्शन में कुछ मांगने नहीं, बल्कि देने के लिए आए हो ?” उस साधारण वेशभूषा में खड़े देहाती किसान से मुख्यमंत्री के सेक्रेटरी ने आश्चर्य से पूछा।
“हाँ सर, आपने बिलकुल सही सुना। मैं यहाँ सचमुच कुछ मांगने नहीं, बल्कि देने आया हूँ।” किसान ने पूरे आत्मविश्वास के साथ कहा।
“अच्छा तो फिर देर क्यों ? जो भी देना है, जल्दी दो, अभी और भी बहुत से लोग लाइन में खड़े हैं।” इस बार मुख्यमंत्री जी ने कहा।
“सर, मैं आपको देने के पहले एक बात पूछना चाहता हूँ कि क्या आप सच में ये चाहते हैं कि हमारे राज्य में हानिकारक प्लास्टिक का उपयोग बंद हो जाए ?” किसान ने पूछा।
“बिलकुल, मैं तो चाहता हूँ कि जल्द से जल्द हमारे राज्य में हानिकारक प्लास्टिक का उपयोग बंद हो जाए।” मुख्यमंत्री जी ने कहा।
“सर जी, इसी सम्बन्ध में मैं आपको एक सलाह देने ही यहाँ आया हूँ।” किसान ने कहा।
“बताओ, तुम्हारी क्या सलाह है ?” मुख्यमंत्री जी ने उसे ऊपर से नीचे तक देखते हुए कहा।
“सर, आपकी एक दृढ़ इच्छा-शक्ति हमारे राज्य को हानिकारक प्लास्टिक से मुक्ति दिला सकती है।” किसान ने कहा।
“सो कैसे ? ज़रा खुलकर बताओ।” इस बार मुख्यमंत्री के सेक्रेटरी ने पूछा।
“सर, जब प्रधानमंत्री जी की दृढ़ इच्छा-शक्ति से एक निर्धारित अवधि में नोटबंदी हो सकती है, तो हमारे राज्य में प्लास्टिक बंदी क्यों नहीं हो सकती ? यदि आप चाहें तो अधिसूचना जारी कर एक निश्चित अवधि के बाद इसके उपयोग को पूर्णतः अवैधानिक घोषित कर दीजिये। उसके पहले मार्केट में फैले हानिकारक प्लास्टिक को पंचायत और सहकारी उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से वापस लेकर उसके बदले चावल, गेहूं, चना या तेल आदि दे सकते हैं। निर्धारित अवधि के बाद इनका प्रयोग करने वालों को शासन की ओर से मिलने वाली सभी प्रकार सुविधाएँ, सब्सिडी आदि रोकने और जेल की सजा का प्रावधान किया जा सकता है। मुझे विश्वास है कि ऐसा किए जाने पर हमारे राज्य में हानिकारक प्लास्टिक का उपयोग बंद हो जाएगा।” किसान ने एक साँस में अपनी पूरी बात रख दी।
बात ख़त्म होने से पहले ही मुख्यमंत्री जी खड़े होकर किसान से गले लग गए।
शाम तक उक्ताशय की अधिसूचना जारी हो गयी थी।
-डॉ. प्रदीप कुमार शर्मा
रायपुर, छत्तीसगढ़

183 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सुन लेते तुम मेरी सदाएं हम भी रो लेते
सुन लेते तुम मेरी सदाएं हम भी रो लेते
Rashmi Ranjan
*गलतफहमी*
*गलतफहमी*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
लाल बचा लो इसे जरा👏
लाल बचा लो इसे जरा👏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
-दीवाली मनाएंगे
-दीवाली मनाएंगे
Seema gupta,Alwar
"जिन्दगी"
Dr. Kishan tandon kranti
माँ-बाप का किया सब भूल गए
माँ-बाप का किया सब भूल गए
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
एक प्रयास अपने लिए भी
एक प्रयास अपने लिए भी
Dr fauzia Naseem shad
*छोड़कर जब माँ को जातीं, बेटियाँ ससुराल में ( हिंदी गजल/गीति
*छोड़कर जब माँ को जातीं, बेटियाँ ससुराल में ( हिंदी गजल/गीति
Ravi Prakash
सूरज - चंदा
सूरज - चंदा
Prakash Chandra
अबला नारी
अबला नारी
Neeraj Agarwal
बातों - बातों में छिड़ी,
बातों - बातों में छिड़ी,
sushil sarna
वो दो साल जिंदगी के (2010-2012)
वो दो साल जिंदगी के (2010-2012)
Shyam Pandey
.....
.....
शेखर सिंह
सह जाऊँ हर एक परिस्थिति मैं,
सह जाऊँ हर एक परिस्थिति मैं,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
3480🌷 *पूर्णिका* 🌷
3480🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
देख तो ऋतुराज
देख तो ऋतुराज
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
सुख दुख जीवन के चक्र हैं
सुख दुख जीवन के चक्र हैं
ruby kumari
खाने को पैसे नहीं,
खाने को पैसे नहीं,
Kanchan Khanna
हे राम तुम्हारे आने से बन रही अयोध्या राजधानी।
हे राम तुम्हारे आने से बन रही अयोध्या राजधानी।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
अब प्यार का मौसम न रहा
अब प्यार का मौसम न रहा
Shekhar Chandra Mitra
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
दंग रह गया मैं उनके हाव भाव देख कर
दंग रह गया मैं उनके हाव भाव देख कर
Amit Pathak
फ़ब्तियां
फ़ब्तियां
Shivkumar Bilagrami
सोचा ना था ऐसे भी जमाने होंगे
सोचा ना था ऐसे भी जमाने होंगे
Jitendra Chhonkar
तलाशता हूँ -
तलाशता हूँ - "प्रणय यात्रा" के निशाँ  
Atul "Krishn"
Sari bandisho ko nibha ke dekha,
Sari bandisho ko nibha ke dekha,
Sakshi Tripathi
गीत
गीत
प्रीतम श्रावस्तवी
जिंदगी में हर पल खुशियों की सौगात रहे।
जिंदगी में हर पल खुशियों की सौगात रहे।
Phool gufran
बेड़ियाँ
बेड़ियाँ
Shaily
#मेरा_जीवन-
#मेरा_जीवन-
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...