Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Mar 2017 · 1 min read

प्रेम भावना

बजाकर हाँथों की चूड़ी अब हृदय से रूबरू हो गया कोई।
ह्रदय के इस कोने कोने में बेला जेसा महँका गया कोई।
अभी तक ह्रदय की तप्ती जमी पर प्रेम की एक बूँद न वर्षी
उसी बजंर ह्रदय पर प्रेम की कुछ बूँदें मधुर बरसा गया कोई।

***धीरेन्द्र***

Language: Hindi
453 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
वनमाली
वनमाली
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
// जिंदगी दो पल की //
// जिंदगी दो पल की //
Surya Barman
शब्द
शब्द
ओंकार मिश्र
"सोच अपनी अपनी"
Dr Meenu Poonia
लोककवि रामचरन गुप्त के रसिया और भजन
लोककवि रामचरन गुप्त के रसिया और भजन
कवि रमेशराज
एक कमबख्त यादें हैं तेरी !
एक कमबख्त यादें हैं तेरी !
The_dk_poetry
2434.पूर्णिका
2434.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
अगर हो हिंदी का देश में
अगर हो हिंदी का देश में
Dr Manju Saini
Life
Life
C.K. Soni
सत्य का संधान
सत्य का संधान
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
लोकसभा बसंती चोला,
लोकसभा बसंती चोला,
SPK Sachin Lodhi
मानव तेरी जय
मानव तेरी जय
Sandeep Pande
आपके शब्द आपके अस्तित्व और व्यक्तित्व का भार वहन करते है...
आपके शब्द आपके अस्तित्व और व्यक्तित्व का भार वहन करते है...
DEVSHREE PAREEK 'ARPITA'
शराब
शराब
RAKESH RAKESH
दिल की दहलीज पर कदमों के निशा आज भी है
दिल की दहलीज पर कदमों के निशा आज भी है
कवि दीपक बवेजा
बड़े महंगे महगे किरदार है मेरे जिन्दगी में l
बड़े महंगे महगे किरदार है मेरे जिन्दगी में l
Ranjeet kumar patre
घूंटती नारी काल पर भारी ?
घूंटती नारी काल पर भारी ?
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
सुशब्द बनाते मित्र बहुत
सुशब्द बनाते मित्र बहुत
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
करीब हो तुम मगर
करीब हो तुम मगर
Surinder blackpen
बकरी
बकरी
ganjal juganoo
दुनिया में अधिकांश लोग
दुनिया में अधिकांश लोग
*Author प्रणय प्रभात*
देश और जनता~
देश और जनता~
दिनेश एल० "जैहिंद"
" ऐसा रंग भरो पिचकारी में "
Chunnu Lal Gupta
क्या खोया क्या पाया
क्या खोया क्या पाया
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
जलती बाती प्रेम की,
जलती बाती प्रेम की,
sushil sarna
"विजेता"
Dr. Kishan tandon kranti
दिसम्बर माह और यह कविता...😊
दिसम्बर माह और यह कविता...😊
पूर्वार्थ
कविता
कविता
Rambali Mishra
*चुनाव: छह दोहे*
*चुनाव: छह दोहे*
Ravi Prakash
13, हिन्दी- दिवस
13, हिन्दी- दिवस
Dr Shweta sood
Loading...