Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Aug 2023 · 1 min read

प्रेम एकता भाईचारा, अपने लक्ष्य महान हैँ (मुक्तक)

प्रेम एकता भाईचारा, अपने लक्ष्य महान हैँ (मुक्तक)
————————————-
अलग नहीँ हैँ देव हमारे, अलग नहीँ भगवान हैँ
कहना होगा हमको सबसे, पहले हम इंसान हैँ
नहीँ हमारा काम लड़ाई, अफवाहेँ फैलाना
प्रेम एकता भाईचारा, अपने लक्ष्य महान हैँ
—————————————————–
रचयिता:रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर, उत्तर प्रदेश
मोबाइल 99976 15451

457 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
"" *आओ गीता पढ़ें* ""
सुनीलानंद महंत
#रोचक_तथ्य
#रोचक_तथ्य
*प्रणय प्रभात*
इतना हमने भी
इतना हमने भी
Dr fauzia Naseem shad
बड़े महंगे महगे किरदार है मेरे जिन्दगी में l
बड़े महंगे महगे किरदार है मेरे जिन्दगी में l
Ranjeet kumar patre
कलियुग की संतानें
कलियुग की संतानें
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
मेरी हर आरजू में,तेरी ही ज़ुस्तज़ु है
मेरी हर आरजू में,तेरी ही ज़ुस्तज़ु है
Pramila sultan
पति की खुशी ,लंबी उम्र ,स्वास्थ्य के लिए,
पति की खुशी ,लंबी उम्र ,स्वास्थ्य के लिए,
ओनिका सेतिया 'अनु '
नारी अस्मिता
नारी अस्मिता
Shyam Sundar Subramanian
मंजिल तक पहुँचने के लिए
मंजिल तक पहुँचने के लिए
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
अच्छा खाना
अच्छा खाना
Dr. Reetesh Kumar Khare डॉ रीतेश कुमार खरे
भूल जा वह जो कल किया
भूल जा वह जो कल किया
gurudeenverma198
3286.*पूर्णिका*
3286.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"कदर"
Dr. Kishan tandon kranti
*
*"तुलसी मैया"*
Shashi kala vyas
अध्यात्म
अध्यात्म
DR ARUN KUMAR SHASTRI
खेलों का महत्व
खेलों का महत्व
विजय कुमार अग्रवाल
*बाल गीत (सपना)*
*बाल गीत (सपना)*
Rituraj shivem verma
कोई आपसे तब तक ईर्ष्या नहीं कर सकता है जब तक वो आपसे परिचित
कोई आपसे तब तक ईर्ष्या नहीं कर सकता है जब तक वो आपसे परिचित
Rj Anand Prajapati
दुश्मन कहां है?
दुश्मन कहां है?
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
*रणवीर धनुर्धारी श्री राम हमारे हैं【हिंदी गजल/गीतिका】*
*रणवीर धनुर्धारी श्री राम हमारे हैं【हिंदी गजल/गीतिका】*
Ravi Prakash
दहेज ना लेंगे
दहेज ना लेंगे
भरत कुमार सोलंकी
Hallucination Of This Night
Hallucination Of This Night
Manisha Manjari
मैं जिससे चाहा,
मैं जिससे चाहा,
Dr. Man Mohan Krishna
अपना सब संसार
अपना सब संसार
महेश चन्द्र त्रिपाठी
चार लोग क्या कहेंगे?
चार लोग क्या कहेंगे?
करन ''केसरा''
काश - दीपक नील पदम्
काश - दीपक नील पदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
टाँगतोड़ ग़ज़ल / MUSAFIR BAITHA
टाँगतोड़ ग़ज़ल / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
श्रीराम वन में
श्रीराम वन में
नवीन जोशी 'नवल'
25- 🌸-तलाश 🌸
25- 🌸-तलाश 🌸
Mahima shukla
AMC (आर्मी) का PAY PARADE 1972 -2002” {संस्मरण -फौजी दर्शन}
AMC (आर्मी) का PAY PARADE 1972 -2002” {संस्मरण -फौजी दर्शन}
DrLakshman Jha Parimal
Loading...