Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Feb 2019 · 1 min read

प्रिय विरह – २

स्मृति प्रेम की नींद में, सुख क्रीड़ा का ध्यान।
सुख चपला की छटा, हर लेती है ज्ञान ।। १

अश्रु भीगते नित नयन, अविरल जल की धार।
मन व्याकुल तड़पे मिलन, प्रिय पथ रही निहार।।२

विरह अगन जलता बदन, जब प्रियतम हो दूर।
रक्त अश्रु रोते नयन,द्रवित हृदय मजबूर।।३

मन सागर के तीर पर, लोल लहर की घात।
कल-कल करती ध्वनि कहे, विस्मृत बीती बात I l४

बाँध दिए क्यों प्राण से, तुमने चिर अनजान।
विरह व्यथा बढ़ने लगी, विवश फूटते गान।। ५

गाती रहती चूड़ियाँ, पिया मिलन का राग।
चूड़ी ढीली हो गई, जली विरह की आग।६
-लक्ष्मी सिंह
नई दिल्ली

Language: Hindi
671 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from लक्ष्मी सिंह
View all
You may also like:
परछाई
परछाई
Dr Parveen Thakur
आडम्बर के दौर में,
आडम्बर के दौर में,
sushil sarna
*राजा रानी हुए कहानी (बाल कविता)*
*राजा रानी हुए कहानी (बाल कविता)*
Ravi Prakash
सत्य क्या है ?
सत्य क्या है ?
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
अधूरी हसरतें
अधूरी हसरतें
Surinder blackpen
मोबाइल
मोबाइल
Punam Pande
जय हो भारत देश हमारे
जय हो भारत देश हमारे
Mukta Rashmi
माँ की एक कोर में छप्पन का भोग🍓🍌🍎🍏
माँ की एक कोर में छप्पन का भोग🍓🍌🍎🍏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
"अनमोल"
Dr. Kishan tandon kranti
दर्द की धुन
दर्द की धुन
Sangeeta Beniwal
गिलहरी
गिलहरी
Satish Srijan
#प्रभात_चिन्तन
#प्रभात_चिन्तन
*Author प्रणय प्रभात*
सुबह की एक कप चाय,
सुबह की एक कप चाय,
Neerja Sharma
आइसक्रीम के बहाने
आइसक्रीम के बहाने
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*ना जाने कब अब उनसे कुर्बत होगी*
*ना जाने कब अब उनसे कुर्बत होगी*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
Live in Present
Live in Present
Satbir Singh Sidhu
शहीदों को नमन
शहीदों को नमन
Dinesh Kumar Gangwar
क्या देखा
क्या देखा
Ajay Mishra
साहित्य सृजन .....
साहित्य सृजन .....
Awadhesh Kumar Singh
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
कम आ रहे हो ख़़्वाबों में आजकल,
कम आ रहे हो ख़़्वाबों में आजकल,
Shreedhar
Har Ghar Tiranga : Har Man Tiranga
Har Ghar Tiranga : Har Man Tiranga
Tushar Jagawat
बुद्धं शरणं गच्छामि
बुद्धं शरणं गच्छामि
Dr.Priya Soni Khare
मिट्टी का बस एक दिया हूँ
मिट्टी का बस एक दिया हूँ
Chunnu Lal Gupta
The World at a Crossroad: Navigating the Shadows of Violence and Contemplated World War
The World at a Crossroad: Navigating the Shadows of Violence and Contemplated World War
Shyam Sundar Subramanian
बालगीत :- चाँद के चर्चे
बालगीत :- चाँद के चर्चे
Kanchan Khanna
अल्फ़ाजी
अल्फ़ाजी
Mahender Singh
Yaade tumhari satane lagi h
Yaade tumhari satane lagi h
Kumar lalit
जीवन की परिभाषा क्या ?
जीवन की परिभाषा क्या ?
Dr fauzia Naseem shad
मैं माँ हूँ
मैं माँ हूँ
Arti Bhadauria
Loading...