Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Aug 2023 · 1 min read

*प्रश्नोत्तर अज्ञानी की कलम*

प्रश्नोत्तर अज्ञानी की कलम
(१)

रामायण लिखी हैं तुलसी।जनमत को भाये हैं तुल सी।।अवधि अवध बिहारी की
गाथा मिल जुल सी।भव पार मार्ग बना गये हैं पुलसी।सभी पितरों का उद्धार करा गये हैं कुलसी।।हम कुठिल कुकर्मीकुबुद्धि है झुलसी।
(२)
जग को जगदीश्वर की महिमा,जैसे मां दूध पिला गये सुलसी।जीवन की बगिया महका गये गुलसी।।श्री राम चरित मन भावन जन जन को।सबके मन जगा गये हैं नुलसी।स्वांसे रटलें राम गर रघु नंदन को।कलियां खिल जायें मन उपवन सी।।
पुलकित हो राम भजो मन में।पढ़रामायण से कर काया कंचन सी।।भज राम का नाम वाम के संग में।दोहा चौपाई सोरठा छन्द,बहुतेरे अनन्त रामायण में।आदिकाल से पतित पावन ग्रन्थ है,है राम की महिमा तुलसी रचनाओं में।गुरु बाल्मिकी तुलसी राम काज हित,मिलें वर्णन सब रामायण में।।
(३)
साधु लिख लिख न धर जाते।तो तुलसी गुरु ज्ञान कहां से पाते।।असुरों का अत्याचार भूमंडल में,गर तुलसी के राम न होते।साधु धर्म सुरक्षित हैं भारती,धर्म धीर साधु धरते।हिन्दी बन गुल महके जहां में,
मिल जुल के जो साथ में होते।जो धर्म मर्म न जाने अज्ञानी,सम्पूर्णानन्द भारत में न होते।।
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झांसी उ•प्र•

327 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"पुकारता है चले आओ"
Dr. Kishan tandon kranti
यादों को दिल से मिटाने लगा है वो आजकल
यादों को दिल से मिटाने लगा है वो आजकल
कृष्णकांत गुर्जर
आई वर्षा
आई वर्षा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*मौन की चुभन*
*मौन की चुभन*
Krishna Manshi
वो ख्वाब
वो ख्वाब
Mahender Singh
जिंदगी उधार की, रास्ते पर आ गई है
जिंदगी उधार की, रास्ते पर आ गई है
Smriti Singh
तू अपना सफ़र तय कर -कविता
तू अपना सफ़र तय कर -कविता
Dr Mukesh 'Aseemit'
किसी भी रूप में ढ़ालो ढ़लेगा प्यार से झुककर
किसी भी रूप में ढ़ालो ढ़लेगा प्यार से झुककर
आर.एस. 'प्रीतम'
खामोस है जमीं खामोस आसमां ,
खामोस है जमीं खामोस आसमां ,
Neeraj Mishra " नीर "
फितरत
फितरत
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
विजेता सूची- “सत्य की खोज” – काव्य प्रतियोगिता
विजेता सूची- “सत्य की खोज” – काव्य प्रतियोगिता
Sahityapedia
बरसात
बरसात
surenderpal vaidya
एक ग़ज़ल यह भी
एक ग़ज़ल यह भी
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
आँगन की दीवारों से ( समीक्षा )
आँगन की दीवारों से ( समीक्षा )
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
श्रीकृष्ण
श्रीकृष्ण
Raju Gajbhiye
मुद्दा मंदिर का
मुद्दा मंदिर का
जय लगन कुमार हैप्पी
जाये तो जाये कहाँ, अपना यह वतन छोड़कर
जाये तो जाये कहाँ, अपना यह वतन छोड़कर
gurudeenverma198
याद करने के लिए बस यारियां रह जाएंगी।
याद करने के लिए बस यारियां रह जाएंगी।
सत्य कुमार प्रेमी
अलविदा
अलविदा
Dr fauzia Naseem shad
नंद के घर आयो लाल
नंद के घर आयो लाल
Kavita Chouhan
👺 #स्टूडियो_वाले_रणबांकुरों_की_शान_में...
👺 #स्टूडियो_वाले_रणबांकुरों_की_शान_में...
*प्रणय प्रभात*
तुममें और मुझमें बस एक समानता है,
तुममें और मुझमें बस एक समानता है,
सिद्धार्थ गोरखपुरी
स्त्री:-
स्त्री:-
Vivek Mishra
ख़ुद ब ख़ुद
ख़ुद ब ख़ुद
Dr. Rajeev Jain
वोट कर!
वोट कर!
Neelam Sharma
बात तो कद्र करने की है
बात तो कद्र करने की है
Surinder blackpen
प्रभु श्रीराम पधारेंगे
प्रभु श्रीराम पधारेंगे
Dr. Upasana Pandey
You're going to realize one day :
You're going to realize one day :
पूर्वार्थ
3471🌷 *पूर्णिका* 🌷
3471🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
एक ख़्वाहिश
एक ख़्वाहिश
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Loading...