Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Oct 2023 · 1 min read

प्रभु राम नाम का अवलंब

बिना कहे ही सब कुछ
मिले,मांगे मिले न भीख
जग में मनुष्य उस रूप में
दिखें जैसा चाहे जगदीश
सबकी ही अपनी मान्यता
अलग अलग हो विश्वास
जैसी ईश्वर की इच्छा हो
वैसा मिले सबको प्रकाश
कहीं धूप, कहीं छांव का
भी खेल चलता चहुंओर
ईश्वर की कृपा से समझ
सके मनु प्रारब्ध का जोर
सो आजीवन पकड़े रहिए
प्रभु राम नाम का अवलंब
उनकी कृपा से सब काम
बनें, बाधाएं छंटें अविलंब

Language: Hindi
134 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दर्पण में जो मुख दिखे,
दर्पण में जो मुख दिखे,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जवानी
जवानी
Bodhisatva kastooriya
गाय
गाय
Vedha Singh
भोर काल से संध्या तक
भोर काल से संध्या तक
देवराज यादव
आदत न डाल
आदत न डाल
Dr fauzia Naseem shad
3) “प्यार भरा ख़त”
3) “प्यार भरा ख़त”
Sapna Arora
एक तरफ़ा मोहब्बत
एक तरफ़ा मोहब्बत
Madhuyanka Raj
दिन में रात
दिन में रात
MSW Sunil SainiCENA
प्रत्याशी को जाँचकर , देना  अपना  वोट
प्रत्याशी को जाँचकर , देना अपना वोट
Dr Archana Gupta
*हे!शारदे*
*हे!शारदे*
Dushyant Kumar
श्वासें राधा हुईं प्राण कान्हा हुआ।
श्वासें राधा हुईं प्राण कान्हा हुआ।
Neelam Sharma
चिंतित अथवा निराश होने से संसार में कोई भी आपत्ति आज तक दूर
चिंतित अथवा निराश होने से संसार में कोई भी आपत्ति आज तक दूर
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
The greatest luck generator - show up
The greatest luck generator - show up
पूर्वार्थ
#शेर-
#शेर-
*Author प्रणय प्रभात*
मछली रानी
मछली रानी
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
"सैनिक की चिट्ठी"
Ekta chitrangini
पुतलों का देश
पुतलों का देश
DR. Kaushal Kishor Shrivastava
3030.*पूर्णिका*
3030.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कुदरत का प्यारा सा तोहफा ये सारी दुनियां अपनी है।
कुदरत का प्यारा सा तोहफा ये सारी दुनियां अपनी है।
सत्य कुमार प्रेमी
मोर मुकुट संग होली
मोर मुकुट संग होली
Dinesh Kumar Gangwar
अभी तो रास्ता शुरू हुआ है।
अभी तो रास्ता शुरू हुआ है।
Ujjwal kumar
"मुशाफिर हूं "
Pushpraj Anant
किसान की संवेदना
किसान की संवेदना
Dr. Vaishali Verma
अपूर्ण नींद और किसी भी मादक वस्तु का नशा दोनों ही शरीर को अन
अपूर्ण नींद और किसी भी मादक वस्तु का नशा दोनों ही शरीर को अन
Rj Anand Prajapati
गुरु दक्षिणा
गुरु दक्षिणा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
तुम्हारे लिए
तुम्हारे लिए
हिमांशु Kulshrestha
यूनिवर्सिटी के गलियारे
यूनिवर्सिटी के गलियारे
Surinder blackpen
लोकशैली में तेवरी
लोकशैली में तेवरी
कवि रमेशराज
"परीक्षा के भूत "
Yogendra Chaturwedi
मनुष्य का उद्देश्य केवल मृत्यु होती हैं
मनुष्य का उद्देश्य केवल मृत्यु होती हैं
शक्ति राव मणि
Loading...