Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Nov 2022 · 1 min read

प्यार अंधा होता है

हर किसी को प्यार है
इस जहां में किसी न किसी से
वरना, ये दुनिया
बरसों से यूं ही नहीं चलती

कौन कहता है रात किसी का
इंतजार नहीं करती
अंधेरे से पूछो खो जाती है जिसमें
क्या वो प्यार नहीं करती

प्यार तो पत्थर भी करता है
उस मिट्टी से जिसके साए में
रहकर ही वो सुकून पाता है
जुदा होता है जब वो उससे
तोड़ देता है जो भी आए सामने
अपने होशो हवास खो जाता है

प्यार है उस मादा मकड़ी को
अपने होने वाले बच्चों से
जानती है उसे ही खा जायेंगे वो
फिर भी वो उन्हें जन्म देती है

होता नहीं प्यार उस सर्प को
बीन की मधुर ध्वनि से अगर
बिना कानों के कैसे सुन पाता
और उस पर थिरकता कैसे मगर

प्यार नहीं देखता कुछ भी
शक्ल सूरत जो देखे वो प्यार नहीं
होता जो प्यार देखकर सिर्फ चेहरा
कीचड़ में कभी कमल खिलता नहीं

प्यार अंधा होता है
लेकिन है वो कानून नहीं
कब किसको हो जाए
ये किसी को मालूम नहीं।

Language: Hindi
9 Likes · 1 Comment · 878 Views
You may also like:
रावण का तुम अंश मिटा दो,
कृष्णकांत गुर्जर
पाखंडी मानव
ओनिका सेतिया 'अनु '
* काल क्रिया *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मुलाक़ात पहली मगर
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बंधन
Kaur Surinder
जात पात
Harshvardhan "आवारा"
दादी माँ
Fuzail Rana
■ व्यंग्य / एक न्यूज़ : जो उड़ा दी फ्यूज..
*Author प्रणय प्रभात*
सावन आया आई बहार
Anamika Singh
🌺🌹रातें बहुत अजीब नज़र आतीं हैं🌹🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दीदार ए वक्त।
Taj Mohammad
हर घड़ी यूँ सांस कम हो रही हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
Writing Challenge- बाल (Hair)
Sahityapedia
कुंडलिया छंद
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
दिल से निकली बात
shabina. Naaz
*तुम्हारे चाहने वाले,हमेशा तुमको चाहेंगे (आध्यात्मिक हिंदी गजल/ गीतिका)*
Ravi Prakash
श्री गणेश स्तुति
Shivkumar Bilagrami
शोख- चंचल-सी हवा
लक्ष्मी सिंह
"कल्पनाओं का बादल"
Ajit Kumar "Karn"
अफसोस
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
तिलस्मी कायनात
Shekhar Chandra Mitra
चार वीर सिपाही
अनूप अंबर
🚩साल नूतन तुम्हें प्रेम-यश-मान दे।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
'समय का सदुपयोग'
Godambari Negi
कौन बचेगा इस धरती पर..... (विश्व प्रकृति दिवस, 03 अक्टूबर)
डॉ.सीमा अग्रवाल
मिसाल
Kanchan Khanna
हाँ, मैं ऐसा तो नहीं था
gurudeenverma198
” विषय ..और ..कल्पना “
DrLakshman Jha Parimal
मेरी आंखों में
Dr fauzia Naseem shad
मानपत्र
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...