Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Mar 2024 · 1 min read

#पैरोडी-

#पैरोडी-
■ बुरा न मानो होली (पास ही) है।
【प्रणय प्रभात】
शीशमहल में।होली रे रसिया
होली रे रसिया ठिठोली रे रसिया।
शीशमहल में।होली रे रसिया।।
◆ टोपी वाले घर से निकले,
सबकी एक है बोली रे रसिया।
शीशमहल में।होली रे रसिया।।
◆ झाड़ू वाले उमड़ पड़े हैं।
सबकी सूरत भोली रे रसिया।
शीशमहल में।होली रे रसिया
◆ मफलर बाबू हैं संकट में।
दे दे कर के गोली रे रसिया।
शीशमहल में।होली रे रसिया।।
◆ ईडी टीम जुटी बंगले में।
करने टंगा-टोली रे रसिया।
शीशमहल में।होली रे रसिया
(भगवान बचाए ऐसी होली और हुड़दंग से)

1 Like · 43 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
शासन अपनी दुर्बलताएँ सदा छिपाता।
शासन अपनी दुर्बलताएँ सदा छिपाता।
महेश चन्द्र त्रिपाठी
R J Meditation Centre
R J Meditation Centre
Ravikesh Jha
आँगन में एक पेड़ चाँदनी....!
आँगन में एक पेड़ चाँदनी....!
singh kunwar sarvendra vikram
15🌸बस तू 🌸
15🌸बस तू 🌸
Mahima shukla
बहुमूल्य जीवन और युवा पीढ़ी
बहुमूल्य जीवन और युवा पीढ़ी
Gaurav Sony
अव्दय
अव्दय
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
जो हुक्म देता है वो इल्तिजा भी करता है
जो हुक्म देता है वो इल्तिजा भी करता है
Rituraj shivem verma
वो मुझे
वो मुझे "चिराग़" की ख़ैरात" दे रहा है
Dr Tabassum Jahan
शूद्र व्यवस्था, वैदिक धर्म की
शूद्र व्यवस्था, वैदिक धर्म की
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
प्रकृति
प्रकृति
Monika Verma
वफ़ा के बदले हमें वफ़ा न मिला
वफ़ा के बदले हमें वफ़ा न मिला
Keshav kishor Kumar
मनांतर🙏
मनांतर🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
वन को मत काटो
वन को मत काटो
Buddha Prakash
"हृदय में कुछ ऐसे अप्रकाशित गम भी रखिए वक़्त-बेवक्त जिन्हें आ
गुमनाम 'बाबा'
2904.*पूर्णिका*
2904.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
!! प्रार्थना !!
!! प्रार्थना !!
Chunnu Lal Gupta
कविता
कविता
Shyam Pandey
*घुटन बहुत है बरसो बादल(हिंदी गजल/गीतिका)*
*घुटन बहुत है बरसो बादल(हिंदी गजल/गीतिका)*
Ravi Prakash
गाँव से चलकर पैदल आ जाना,
गाँव से चलकर पैदल आ जाना,
Anand Kumar
"एक ही जीवन में
पूर्वार्थ
"रेखा"
Dr. Kishan tandon kranti
"वचन देती हूँ"
Ekta chitrangini
पागल मन कहां सुख पाय ?
पागल मन कहां सुख पाय ?
goutam shaw
गर्मी आई
गर्मी आई
Dr. Pradeep Kumar Sharma
कीमत बढ़ानी है
कीमत बढ़ानी है
Roopali Sharma
राजस्थान में का बा
राजस्थान में का बा
gurudeenverma198
#मुक्तक-
#मुक्तक-
*प्रणय प्रभात*
संघर्ष हमारा जीतेगा,
संघर्ष हमारा जीतेगा,
Shweta Soni
नफरत थी तुम्हें हमसे
नफरत थी तुम्हें हमसे
Swami Ganganiya
दीपों की माला
दीपों की माला
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
Loading...