Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 May 2023 · 1 min read

पीताम्बरी आभा

पीताम्बरी आभा
**************
बादलों के रथ पे होकर सवार,
पीताम्बरी आभा का विस्तार,
मानों गगन के पट पर किसी ने,
उड़ेल डाली रंगो की बहार ।

पवन चक्कीयाँ लोरी सुनाती
अस्ताचलगामी भानु हर्षाती,
गगन पर चमक रहा प्रकाश बिंब,
मुखमंडल अंबर का जगमगाती।

आकाश का रंग हो रहा गहरा,
धरा पर बिखर रहा घना अँधेरा,
धरती गगन की ये मिलन की बेला,
विंहगम दृश्य संजोता हृदय चितेरा।

303 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
भरम
भरम
Shyam Sundar Subramanian
जिंदगी की राह आसान नहीं थी....
जिंदगी की राह आसान नहीं थी....
Ashish shukla
विद्रोही प्रेम
विद्रोही प्रेम
Rashmi Ranjan
आँखे नम हो जाती माँ,
आँखे नम हो जाती माँ,
Sushil Pandey
बखान गुरु महिमा की,
बखान गुरु महिमा की,
Yogendra Chaturwedi
"हमारे नेता "
DrLakshman Jha Parimal
अयोध्या
अयोध्या
सत्यम प्रकाश 'ऋतुपर्ण'
आईना हो सामने फिर चेहरा छुपाऊं कैसे,
आईना हो सामने फिर चेहरा छुपाऊं कैसे,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
बँटवारा
बँटवारा
Shriyansh Gupta
*सावन का वरदान, भीगती दुनिया सूखी (कुंडलिया)*
*सावन का वरदान, भीगती दुनिया सूखी (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
इंतज़ार एक दस्तक की, उस दरवाजे को थी रहती, चौखट पर जिसकी धूल, बरसों की थी जमी हुई।
इंतज़ार एक दस्तक की, उस दरवाजे को थी रहती, चौखट पर जिसकी धूल, बरसों की थी जमी हुई।
Manisha Manjari
गर्मी आई
गर्मी आई
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*उदघोष*
*उदघोष*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"मैं मजाक हूँ "
भरत कुमार सोलंकी
संवाद और समय रिश्ते को जिंदा रखते हैं ।
संवाद और समय रिश्ते को जिंदा रखते हैं ।
Dr. Sunita Singh
तुकबन्दी,
तुकबन्दी,
Satish Srijan
अधखिली यह कली
अधखिली यह कली
gurudeenverma198
गरीबी  बनाती ,समझदार  भाई ,
गरीबी बनाती ,समझदार भाई ,
Neelofar Khan
गुलाब
गुलाब
Prof Neelam Sangwan
सत्य साधना
सत्य साधना
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
■ नि:शुल्क सलाह।।😊
■ नि:शुल्क सलाह।।😊
*प्रणय प्रभात*
अन्तर्मन की विषम वेदना
अन्तर्मन की विषम वेदना
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
पुतलों का देश
पुतलों का देश
DR. Kaushal Kishor Shrivastava
*अभी तो रास्ता शुरू हुआ है.*
*अभी तो रास्ता शुरू हुआ है.*
Naushaba Suriya
|नये शिल्प में रमेशराज की तेवरी
|नये शिल्प में रमेशराज की तेवरी
कवि रमेशराज
संगीत................... जीवन है
संगीत................... जीवन है
Neeraj Agarwal
वायु प्रदूषण रहित बनाओ।
वायु प्रदूषण रहित बनाओ।
Buddha Prakash
"जमाने के हिसाब से"
Dr. Kishan tandon kranti
गंगा
गंगा
ओंकार मिश्र
3495.🌷 *पूर्णिका* 🌷
3495.🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
Loading...