Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 May 2022 · 1 min read

पिता

पिता प्रकाश है
पिता आकाश है

पिता आस है
आशा और विश्वास है

कोई गम नहीं
गर पिता पास है

जिस घर मैं है पिता
उस घर में देवों का वास है

धूप में छाँव का एहसास है
बच्चों के लिए पिता खास है.
समाप्त
——–
राजीव विशाल (रोहतासी)
मो-8210666825
9103279819

2 Likes · 3 Comments · 299 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Rajiv Vishal (Rohtasi)
View all
You may also like:
ईश्वर का उपहार है बेटी, धरती पर भगवान है।
ईश्वर का उपहार है बेटी, धरती पर भगवान है।
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बादल
बादल
लक्ष्मी सिंह
शीर्षक - 'शिक्षा : गुणात्मक सुधार और पुनर्मूल्यांकन की महत्ती आवश्यकता'
शीर्षक - 'शिक्षा : गुणात्मक सुधार और पुनर्मूल्यांकन की महत्ती आवश्यकता'
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
मन तो बावरा है
मन तो बावरा है
हिमांशु Kulshrestha
*आठ माह की अद्वी प्यारी (बाल कविता)*
*आठ माह की अद्वी प्यारी (बाल कविता)*
Ravi Prakash
क्यू ना वो खुदकी सुने?
क्यू ना वो खुदकी सुने?
Kanchan Alok Malu
ये क़िताब
ये क़िताब
Shweta Soni
निरोगी काया
निरोगी काया
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
सबका भला कहां करती हैं ये बारिशें
सबका भला कहां करती हैं ये बारिशें
Abhinay Krishna Prajapati-.-(kavyash)
*राज सारे दरमियाँ आज खोलूँ*
*राज सारे दरमियाँ आज खोलूँ*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
हमेशा गिरगिट माहौल देखकर रंग बदलता है
हमेशा गिरगिट माहौल देखकर रंग बदलता है
शेखर सिंह
संस्कृत के आँचल की बेटी
संस्कृत के आँचल की बेटी
Er.Navaneet R Shandily
तेरी मुहब्बत से, अपना अन्तर्मन रच दूं।
तेरी मुहब्बत से, अपना अन्तर्मन रच दूं।
Anand Kumar
है खबर यहीं के तेरा इंतजार है
है खबर यहीं के तेरा इंतजार है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
जीयो
जीयो
Sanjay ' शून्य'
हुआ है इश्क जब से मैं दिवानी हो गई हूँ
हुआ है इश्क जब से मैं दिवानी हो गई हूँ
Dr Archana Gupta
जीभर न मिलीं रोटियाँ, हमको तो दो जून
जीभर न मिलीं रोटियाँ, हमको तो दो जून
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
#शेर
#शेर
*प्रणय प्रभात*
"चारपाई"
Dr. Kishan tandon kranti
किताबें
किताबें
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Jay prakash dewangan
Jay prakash dewangan
Jay Dewangan
जिन्दगी के रंग
जिन्दगी के रंग
Santosh Shrivastava
दोस्ती क्या है
दोस्ती क्या है
VINOD CHAUHAN
3239.*पूर्णिका*
3239.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
उम्र के इस पडाव
उम्र के इस पडाव
Bodhisatva kastooriya
रख हौसला, कर फैसला, दृढ़ निश्चय के साथ
रख हौसला, कर फैसला, दृढ़ निश्चय के साथ
Krishna Manshi
धीरे-धीरे ला रहा, रंग मेरा प्रयास ।
धीरे-धीरे ला रहा, रंग मेरा प्रयास ।
sushil sarna
इजहार ए इश्क
इजहार ए इश्क
साहित्य गौरव
हसरतों के गांव में
हसरतों के गांव में
Harminder Kaur
भगवान की पूजा करने से
भगवान की पूजा करने से
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
Loading...