Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Jul 2022 · 1 min read

पहले जैसे रिश्ते अब क्यों नहीं रहे

उसने पूछा,पहले जैसे रिश्ते अब क्यों नहीं रहे ?
मैने भी कहां,पहले जैसे आदमी अब कहां रहे।।

उसने पूछा,घरों में खिड़कियां बनना बंद क्यों हो गई ?
मैने कहां,अब पड़ोस में झांकने वाले कहां रह गए।।

उसने कहा,बहला न पाएंगे उसे अब मिट्टी के खिलौने।
मैने कहां,जनता हूं मै ,अब तुम बच्चे नही रह गए।।

उसने कहां,तेरी मोहब्बत के चिराग इतने अंधेरे में जले।
मैने कहां,मेरी मोहब्बत में अब कोई अंधेरे नही रहे।।

उसने कहां,ढूंढती रही मै तुम्हे अपने प्यार के खातिर सब जगह।
मैने कहां, जिन पर लगे थे निशान वे अब नक्शे नही रहे।।

उसने कहां,वादे पर वादे करते रहे मुझे तुम बहकाते रहे।
मैने कहां,मेरी जेब में झूठे सच्चे वादे अब कहां रहे।।

उसने कहां,बरसात होती रही मै प्यास से मरती रही।
मैने पूछा क्या तुम मेरी हर बूंद से प्यास बुझाती रही।।

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

Language: Hindi
4 Likes · 7 Comments · 647 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ram Krishan Rastogi
View all
You may also like:
#पंचैती
#पंचैती
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
*वसंत 【कुंडलिया】*
*वसंत 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
नए साल की नई सुबह पर,
नए साल की नई सुबह पर,
Anamika Singh
💐प्रेम कौतुक-324💐
💐प्रेम कौतुक-324💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
माँ आज भी जिंदा हैं
माँ आज भी जिंदा हैं
Er.Navaneet R Shandily
कहीं पे पहुँचने के लिए,
कहीं पे पहुँचने के लिए,
शेखर सिंह
पुरुष अधूरा नारी बिन है, बिना पुरुष के नारी जग में,
पुरुष अधूरा नारी बिन है, बिना पुरुष के नारी जग में,
Arvind trivedi
मैं वो चीज़ हूं जो इश्क़ में मर जाऊंगी।
मैं वो चीज़ हूं जो इश्क़ में मर जाऊंगी।
Phool gufran
👸कोई हंस रहा, तो कोई रो रहा है💏
👸कोई हंस रहा, तो कोई रो रहा है💏
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
कोशिश
कोशिश
Dr fauzia Naseem shad
उत्तम देह
उत्तम देह
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
श्रेष्ठता
श्रेष्ठता
Paras Nath Jha
मित्रतापूर्ण कीजिए,
मित्रतापूर्ण कीजिए,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
“सबसे प्यारी मेरी कविता”
“सबसे प्यारी मेरी कविता”
DrLakshman Jha Parimal
जज़्बात
जज़्बात
Neeraj Agarwal
दादी माॅ॑ बहुत याद आई
दादी माॅ॑ बहुत याद आई
VINOD CHAUHAN
राजस्थानी भाषा में
राजस्थानी भाषा में
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
' पंकज उधास '
' पंकज उधास '
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
ज़िस्म की खुश्बू,
ज़िस्म की खुश्बू,
Bodhisatva kastooriya
2595.पूर्णिका
2595.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
"आया रे बुढ़ापा"
Dr Meenu Poonia
उजाले को वही कीमत करेगा
उजाले को वही कीमत करेगा
पूर्वार्थ
"किरायेदार"
Dr. Kishan tandon kranti
Rap song 【4】 - पटना तुम घुमाया
Rap song 【4】 - पटना तुम घुमाया
Nishant prakhar
विचार, संस्कार और रस [ तीन ]
विचार, संस्कार और रस [ तीन ]
कवि रमेशराज
हमारी चाहत तो चाँद पे जाने की थी!!
हमारी चाहत तो चाँद पे जाने की थी!!
SUNIL kumar
चुनिंदा बाल कहानियाँ (पुस्तक, बाल कहानी संग्रह)
चुनिंदा बाल कहानियाँ (पुस्तक, बाल कहानी संग्रह)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मुकाम यू ही मिलते जाएंगे,
मुकाम यू ही मिलते जाएंगे,
Buddha Prakash
मुझे अकेले ही चलने दो ,यह है मेरा सफर
मुझे अकेले ही चलने दो ,यह है मेरा सफर
कवि दीपक बवेजा
वक्त और रिश्ते
वक्त और रिश्ते
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
Loading...