Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Mar 2017 · 1 min read

परेशान तन है ……..

परेशान तन है
बेचैन मन है

उलझन में जान है
बहुत परेशान है

पत्तो सा टूट रहा हु
किसी बंधन सा छूट रहा हु

तिल-तिल मर रहा हु
घुट-घुट कर जी रहा हु

कुछ ना किया तो हार है
कुछ किया तो जीत कर भी हार है

कैसी ये मजधार
आँखों में आँशु की धार है
मन बहुत परेशान है।(अवनीश कुमार)

Language: Hindi
596 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
शेखर सिंह
शेखर सिंह
शेखर सिंह
जिन्दगी की पाठशाला
जिन्दगी की पाठशाला
Ashokatv
वो ज़ख्म जो दिखाई नहीं देते
वो ज़ख्म जो दिखाई नहीं देते
shabina. Naaz
साहित्य सत्य और न्याय का मार्ग प्रशस्त करता है।
साहित्य सत्य और न्याय का मार्ग प्रशस्त करता है।
पंकज कुमार कर्ण
माया का रोग (व्यंग्य)
माया का रोग (व्यंग्य)
नवीन जोशी 'नवल'
ज़िंदगी से शिकायत
ज़िंदगी से शिकायत
Dr fauzia Naseem shad
आज़माइश
आज़माइश
Dr. Seema Varma
छाई रे घटा घनघोर,सखी री पावस में चहुंओर
छाई रे घटा घनघोर,सखी री पावस में चहुंओर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
रखो अपेक्षा ये सदा,  लक्ष्य पूर्ण हो जाय
रखो अपेक्षा ये सदा, लक्ष्य पूर्ण हो जाय
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
आत्मज्ञान
आत्मज्ञान
Shyam Sundar Subramanian
नसीब तो ऐसा है मेरा
नसीब तो ऐसा है मेरा
gurudeenverma198
माफ़ कर दे कका
माफ़ कर दे कका
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
गर्द चेहरे से अपने हटा लीजिए
गर्द चेहरे से अपने हटा लीजिए
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
लाखों करोड़ रुपए और 400 दिन बर्बाद करने के बाद भी रहे वो ही।
लाखों करोड़ रुपए और 400 दिन बर्बाद करने के बाद भी रहे वो ही।
*Author प्रणय प्रभात*
শহরের মেঘ শহরেই মরে যায়
শহরের মেঘ শহরেই মরে যায়
Rejaul Karim
"तेरे इश्क़ में"
Dr. Kishan tandon kranti
मैं अकेली हूँ...
मैं अकेली हूँ...
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
रणजीत कुमार शुक्ल
रणजीत कुमार शुक्ल
Ranjeet Kumar Shukla
*मन के राजा को नमन, मन के मनसबदार (कुंडलिया)*
*मन के राजा को नमन, मन के मनसबदार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
चिन्ता और चिता मे अंतर
चिन्ता और चिता मे अंतर
Ram Krishan Rastogi
चैन से जिंदगी
चैन से जिंदगी
Basant Bhagawan Roy
भारत चाँद पर छाया हैं…
भारत चाँद पर छाया हैं…
शांतिलाल सोनी
वेलेंटाइन डे
वेलेंटाइन डे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
शिक्षा
शिक्षा
Neeraj Agarwal
एक अरसा हो गया गाँव गये हुए, बचपन मे कभी कभी ही जाने का मौका
एक अरसा हो गया गाँव गये हुए, बचपन मे कभी कभी ही जाने का मौका
पूर्वार्थ
भाषाओं का ज्ञान भले ही न हो,
भाषाओं का ज्ञान भले ही न हो,
Vishal babu (vishu)
306.*पूर्णिका*
306.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
आर्या कंपटीशन कोचिंग क्लासेज केदलीपुर ईरनी रोड ठेकमा आजमगढ़।
आर्या कंपटीशन कोचिंग क्लासेज केदलीपुर ईरनी रोड ठेकमा आजमगढ़।
Rj Anand Prajapati
बेरोजगारी मंहगायी की बातें सब दिन मैं ही  दुहराता हूँ,  फिरभ
बेरोजगारी मंहगायी की बातें सब दिन मैं ही दुहराता हूँ, फिरभ
DrLakshman Jha Parimal
🙏❌जानवरों को मत खाओ !❌🙏
🙏❌जानवरों को मत खाओ !❌🙏
Srishty Bansal
Loading...