Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 May 2022 · 1 min read

परिस्थितियों के आगे न झुकना।

हालातों के आगे घुटने टेककर,
न अपनी इच्छा को मिटने दिया।
न मिला मखमली सिंहासन तो क्या हुआ!
ईंटो का सिंहासन बना खुश हो लिया।
कम से कम अपनी इच्छा को मरने तो न दिया।

~अनामिका

Language: Hindi
Tag: मुक्तक
5 Likes · 444 Views
You may also like:
उत्तराखण्डी गीतों की लोकप्रिय अभिनेत्री रीना के निधन पर
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हमारे शुभेक्षु पिता
Aditya Prakash
क्या हाल है आजकल
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
खुशनुमा ही रहे, जिंदगी दोस्तों।
सत्य कुमार प्रेमी
ये कैसा बेटी बाप का रिश्ता है?
Taj Mohammad
नभ में था वो एक सितारा
Kavita Chouhan
नींदों से कह दिया है
Dr fauzia Naseem shad
🌈🌈प्रेम की राह पर-66🌈🌈
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तलाश
Seema 'Tu hai na'
श्रमिक जो हूँ मैं तो...
मनोज कर्ण
उसकी मुस्कराहट के , कायल हुए थे हम
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
ॐ नीलकंठ शिव है वो
Swami Ganganiya
तीरगी से निबाह करते रहे
Anis Shah
अब सुप्त पड़ी मन की मुरली, यह जीवन मध्य फँसा...
संजीव शुक्ल 'सचिन'
राफेल विमान
jaswant Lakhara
*निरर्थक दौड़ पद-धन की सदा जल्दी थकाती है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
युवकों का निर्माण चाहिए
Pt. Brajesh Kumar Nayak
इतना काफी है
Saraswati Bajpai
कविता 100 संग्रह
श्याम सिंह बिष्ट
लोगों के रंग
Kaur Surinder
भुलाना हमारे वश में नहीं
Shyam Singh Lodhi Rajput (LR)
बुढ़ापे में जीने के गुरु मंत्र
Ram Krishan Rastogi
“ हृदयक गप्प ”
DrLakshman Jha Parimal
जिन्दगी का नया अंदाज
Anamika Singh
Writing Challenge- स्वास्थ्य (Health)
Sahityapedia
जुल्फ जब खुलकर बिखर गई
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
प्यार जताना न आया
VINOD KUMAR CHAUHAN
दुआ कीजिएगा
Shekhar Chandra Mitra
परिचय- राजीव नामदेव राना लिधौरी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
बहुत हुशियार हो गए है लोग
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
Loading...