Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 May 2022 · 1 min read

परिस्थितियों के आगे न झुकना।

हालातों के आगे घुटने टेककर,
न अपनी इच्छा को मिटने दिया।
न मिला मखमली सिंहासन तो क्या हुआ!
ईंटो का सिंहासन बना खुश हो लिया।
कम से कम अपनी इच्छा को मरने तो न दिया।

~अनामिका

Language: Hindi
6 Likes · 687 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
रेस का घोड़ा
रेस का घोड़ा
Naseeb Jinagal Koslia नसीब जीनागल कोसलिया
*नंगा चालीसा* #रमेशराज
*नंगा चालीसा* #रमेशराज
कवि रमेशराज
बुंदेली दोहा गरे गौ (भाग-2)
बुंदेली दोहा गरे गौ (भाग-2)
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
हर मंजिल के आगे है नई मंजिल
हर मंजिल के आगे है नई मंजिल
कवि दीपक बवेजा
पंचचामर छंद एवं चामर छंद (विधान सउदाहरण )
पंचचामर छंद एवं चामर छंद (विधान सउदाहरण )
Subhash Singhai
मेरी फितरत है बस मुस्कुराने की सदा
मेरी फितरत है बस मुस्कुराने की सदा
VINOD CHAUHAN
ਕੁਝ ਕਿਰਦਾਰ
ਕੁਝ ਕਿਰਦਾਰ
Surinder blackpen
आज कृत्रिम रिश्तों पर टिका, ये संसार है ।
आज कृत्रिम रिश्तों पर टिका, ये संसार है ।
Manisha Manjari
वह देश हिंदुस्तान है
वह देश हिंदुस्तान है
gurudeenverma198
फेसबुक
फेसबुक
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
ओ त्याग मुर्ति माँ होती है
ओ त्याग मुर्ति माँ होती है
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
कब रात बीत जाती है
कब रात बीत जाती है
Madhuyanka Raj
क्यूं हो शामिल ,प्यासों मैं हम भी //
क्यूं हो शामिल ,प्यासों मैं हम भी //
गुप्तरत्न
আগামীকালের স্ত্রী
আগামীকালের স্ত্রী
Otteri Selvakumar
दुसेरें को इज्जत देना हार मानव का कर्तंव्य है।  ...‌राठौड श्
दुसेरें को इज्जत देना हार मानव का कर्तंव्य है। ...‌राठौड श्
राठौड़ श्रावण लेखक, प्रध्यापक
होली के हुड़दंग में ,
होली के हुड़दंग में ,
sushil sarna
#आंखें_खोलो_अभियान
#आंखें_खोलो_अभियान
*प्रणय प्रभात*
रामायण में हनुमान जी को संजीवनी बुटी लाते देख
रामायण में हनुमान जी को संजीवनी बुटी लाते देख
शेखर सिंह
बिहनन्हा के हल्का सा घाम कुछ याद दीलाथे ,
बिहनन्हा के हल्का सा घाम कुछ याद दीलाथे ,
Krishna Kumar ANANT
फिर से अजनबी बना गए जो तुम
फिर से अजनबी बना गए जो तुम
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
*ऋषि नहीं वैज्ञानिक*
*ऋषि नहीं वैज्ञानिक*
Poonam Matia
ग़़ज़ल
ग़़ज़ल
आर.एस. 'प्रीतम'
*नुक्कड़ की चाय*
*नुक्कड़ की चाय*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
2822. *पूर्णिका*
2822. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*गोल- गोल*
*गोल- गोल*
Dushyant Kumar
आत्म बोध
आत्म बोध
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*लाल हैं कुछ हरी, सावनी चूड़ियॉं (हिंदी गजल)*
*लाल हैं कुछ हरी, सावनी चूड़ियॉं (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
मास्टर जी: एक अनकही प्रेमकथा (प्रतिनिधि कहानी)
मास्टर जी: एक अनकही प्रेमकथा (प्रतिनिधि कहानी)
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
***दिल बहलाने  लाया हूँ***
***दिल बहलाने लाया हूँ***
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
नदी
नदी
नूरफातिमा खातून नूरी
Loading...