Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Nov 2023 · 1 min read

परिश्रम

विषय – परिश्रम का फल
सच तो मेहनत मेरी रहमत तेरी रहती हैं।
हम सभी को परिश्रम का फल मिलता हैं। मेहनत ही सदा संग हम सबके होती हैं। परिश्रम का फल जिंदगी का मंथन होता हैं। मेहनत न एक शब्द हम तुम समझते हैं। जिंदगी में परिश्रम के फल की सोच रखते हैं। हम सभी सच की राह न आसान मानते है। परिश्रम का फल हम सबको रंग लाता हैं। जिंदगी और जीवन ही मेहनत का नाम होता हैं। परिश्रम का फल हिम्मत का साथ होता हैं।
तेरे मेरे सपने आँखों में सच जो रहते हैं ।
परिश्रम का फल बस हमको याद कराते हैं ।
चाहत और प्रेम में भी आशाएं और उम्मीद होती हैं।
सच हां हमारे परिश्रम का फल जिंदगी चलाता हैं।
परिश्रम का फल फल ही हम सबका अपना होता हैं।

नीरज अग्रवाल चंदौसी उप्र

Language: Hindi
186 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सात जन्मों की शपथ
सात जन्मों की शपथ
Bodhisatva kastooriya
क्या गुजरती होगी उस दिल पर
क्या गुजरती होगी उस दिल पर
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
रमेशराज के वर्णिक छंद में मुक्तक
रमेशराज के वर्णिक छंद में मुक्तक
कवि रमेशराज
तू प्रतीक है समृद्धि की
तू प्रतीक है समृद्धि की
gurudeenverma198
कफन
कफन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
सिर की सफेदी
सिर की सफेदी
Khajan Singh Nain
दोहा छंद
दोहा छंद
Yogmaya Sharma
वक़्त आने पर, बेमुरव्वत निकले,
वक़्त आने पर, बेमुरव्वत निकले,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
शब्द लौटकर आते हैं,,,,
शब्द लौटकर आते हैं,,,,
Shweta Soni
राधा कृष्ण होली भजन
राधा कृष्ण होली भजन
Khaimsingh Saini
सरस्वती वंदना-4
सरस्वती वंदना-4
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
खुद ही परेशान हूँ मैं, अपने हाल-ऐ-मज़बूरी से
खुद ही परेशान हूँ मैं, अपने हाल-ऐ-मज़बूरी से
डी. के. निवातिया
आज भी
आज भी
Dr fauzia Naseem shad
*चुनाव से पहले नेता जी बातों में तार गए*
*चुनाव से पहले नेता जी बातों में तार गए*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
कुछ मुक्तक...
कुछ मुक्तक...
डॉ.सीमा अग्रवाल
महादेव को जानना होगा
महादेव को जानना होगा
Anil chobisa
3202.*पूर्णिका*
3202.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
भीष्म देव के मनोभाव शरशैय्या पर
भीष्म देव के मनोभाव शरशैय्या पर
Pooja Singh
दिवाली व होली में वार्तालाप
दिवाली व होली में वार्तालाप
Ram Krishan Rastogi
🌹मेरे जज़्बात, मेरे अल्फ़ाज़🌹
🌹मेरे जज़्बात, मेरे अल्फ़ाज़🌹
Dr Shweta sood
रक्त से सीचा मातृभूमि उर,देकर अपनी जान।
रक्त से सीचा मातृभूमि उर,देकर अपनी जान।
Neelam Sharma
प्रेम एकता भाईचारा, अपने लक्ष्य महान हैँ (मुक्तक)
प्रेम एकता भाईचारा, अपने लक्ष्य महान हैँ (मुक्तक)
Ravi Prakash
ओ गौरैया,बाल गीत
ओ गौरैया,बाल गीत
Mohan Pandey
यकीन
यकीन
Sidhartha Mishra
धोखा मिला है अपनो से, तो तन्हाई से क्या डरना l
धोखा मिला है अपनो से, तो तन्हाई से क्या डरना l
Shyamsingh Lodhi Rajput (Tejpuriya)
■ तुकबंदी कविता नहीं।।
■ तुकबंदी कविता नहीं।।
*Author प्रणय प्रभात*
चवपैया छंद , 30 मात्रा (मापनी मुक्त मात्रिक )
चवपैया छंद , 30 मात्रा (मापनी मुक्त मात्रिक )
Subhash Singhai
सच्चाई की कीमत
सच्चाई की कीमत
Dr Parveen Thakur
"रंग"
Dr. Kishan tandon kranti
जिंदगी एडजस्टमेंट से ही चलती है / Vishnu Nagar
जिंदगी एडजस्टमेंट से ही चलती है / Vishnu Nagar
Dr MusafiR BaithA
Loading...