Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Oct 2022 · 1 min read

परख किसको है यहां

परख किसको है यहां

अच्छा-बुरा, सही-गलत की परख किसको है यहां,
दूसरों के मन को ना भाय ‘बुरा’,
अपने मन को भाय ‘अच्छा’
वही तो सब करते हैं यहां।
फिर रावण के पुतले पर गुस्सा उतार क्युं नादान बने जग सारा,
जब तूने ही क्लेश, द्वेष, वासना, निंदा, चुगली को है पाला।।

#seematuhaina

Language: Hindi
2 Likes · 263 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
राधा और मुरली को भी छोड़ना पड़ता हैं?
राधा और मुरली को भी छोड़ना पड़ता हैं?
The_dk_poetry
जब सहने की लत लग जाए,
जब सहने की लत लग जाए,
शेखर सिंह
+जागृत देवी+
+जागृत देवी+
Ms.Ankit Halke jha
जब  फ़ज़ाओं  में  कोई  ग़म  घोलता है
जब फ़ज़ाओं में कोई ग़म घोलता है
प्रदीप माहिर
काले समय का सवेरा ।
काले समय का सवेरा ।
Nishant prakhar
जिदंगी भी साथ छोड़ देती हैं,
जिदंगी भी साथ छोड़ देती हैं,
Umender kumar
प्राणदायिनी वृक्ष
प्राणदायिनी वृक्ष
AMRESH KUMAR VERMA
"देखो"
Dr. Kishan tandon kranti
राष्ट्र सेवा के मौनव्रती श्री सुरेश राम भाई
राष्ट्र सेवा के मौनव्रती श्री सुरेश राम भाई
Ravi Prakash
🌹थम जा जिन्दगी🌹
🌹थम जा जिन्दगी🌹
Dr Shweta sood
सबला नारी
सबला नारी
आनन्द मिश्र
तुझे याद करता हूँ क्या तुम भी मुझे याद करती हो
तुझे याद करता हूँ क्या तुम भी मुझे याद करती हो
Rituraj shivem verma
*** चल अकेला.....!!! ***
*** चल अकेला.....!!! ***
VEDANTA PATEL
2314.पूर्णिका
2314.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
"लाचार मैं या गुब्बारे वाला"
संजय कुमार संजू
प्यार ना होते हुए भी प्यार हो ही जाता हैं
प्यार ना होते हुए भी प्यार हो ही जाता हैं
Jitendra Chhonkar
युद्ध नहीं जिनके जीवन में,
युद्ध नहीं जिनके जीवन में,
Sandeep Mishra
"टमाटर" ऐसी चीज़ नहीं
*Author प्रणय प्रभात*
देवों की भूमि उत्तराखण्ड
देवों की भूमि उत्तराखण्ड
Ritu Asooja
फोन नंबर
फोन नंबर
पूर्वार्थ
बारिश के लिए
बारिश के लिए
Srishty Bansal
चाँद कुछ इस तरह से पास आया…
चाँद कुछ इस तरह से पास आया…
Anand Kumar
सभी कहें उत्तरांचली,  महावीर है नाम
सभी कहें उत्तरांचली, महावीर है नाम
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ज़िन्दगी एक बार मिलती हैं, लिख दें अपने मन के अल्फाज़
ज़िन्दगी एक बार मिलती हैं, लिख दें अपने मन के अल्फाज़
लोकेश शर्मा 'अवस्थी'
रेतीले तपते गर्म रास्ते
रेतीले तपते गर्म रास्ते
Atul "Krishn"
चलो चलाए रेल।
चलो चलाए रेल।
Vedha Singh
आंख में बेबस आंसू
आंख में बेबस आंसू
Dr. Rajeev Jain
उठ जाग मेरे मानस
उठ जाग मेरे मानस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"मौत की सजा पर जीने की चाह"
Pushpraj Anant
पूछूँगा मैं राम से,
पूछूँगा मैं राम से,
sushil sarna
Loading...