Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Mar 2024 · 1 min read

“पँछियोँ मेँ भी, अमिट है प्यार..!”

पाँखुरी, घुटती, सिसकती रह गई,
जब गया, करता, भ्रमर गुँजार।
पवन पगली पा के थी हर्षित मगर,
सुरभि की महिमा है, अपरम्पार।।

लालिमा है क्षितिज की, कुछ कह रही,
उर मेँ वसुधा के, प्रबल उद्गार।
व्योम भी, आतुर हुआ है मिलन को,
शान्त, पर मन मेँ छुपाए ज्वार।।

शाश्वत है भाव बस इक, जगत मेँ,
ना किसी की जीत, ना ही हार।
कोई झुठलाए भी आख़िर कब तलक,
प्रीत का, होता नहीं व्यापार।।

चहचहाहट मेँ छुपी है भावना,
कुछ उलहना और कुछ प्रतिकार।
लौट आते साँझ को सब, डाल पर,
पँछियोँ मेँ भी, अमिट है प्यारl

नयन ढूँढें, शब्द के आधार को,
अधर सूखे, है विरह की मार।
मन को समझाऊँ भी “आशा” किस तरह,
कब हुए हैं स्वप्न सब, साकार..!

Language: Hindi
5 Likes · 6 Comments · 62 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
View all
You may also like:
असर
असर
Shyam Sundar Subramanian
शिव विनाशक,
शिव विनाशक,
shambhavi Mishra
मेरे मौन का मान कीजिए महोदय,
मेरे मौन का मान कीजिए महोदय,
शेखर सिंह
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मातृभूमि पर तू अपना सर्वस्व वार दे
मातृभूमि पर तू अपना सर्वस्व वार दे
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
जेठ कि भरी दोपहरी
जेठ कि भरी दोपहरी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
जो किसी से
जो किसी से
Dr fauzia Naseem shad
कह कोई ग़ज़ल
कह कोई ग़ज़ल
Shekhar Chandra Mitra
कोरोंना
कोरोंना
Bodhisatva kastooriya
हम तो कवि है
हम तो कवि है
नन्दलाल सुथार "राही"
ये कमाल हिन्दोस्ताँ का है
ये कमाल हिन्दोस्ताँ का है
अरशद रसूल बदायूंनी
*जब से मुझे पता चला है कि*
*जब से मुझे पता चला है कि*
Manoj Kushwaha PS
ख्याल........
ख्याल........
Naushaba Suriya
// प्रीत में //
// प्रीत में //
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हे मां शारदे ज्ञान दे
हे मां शारदे ज्ञान दे
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
******** प्रेरणा-गीत *******
******** प्रेरणा-गीत *******
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
"इस्तिफ़सार" ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
गजल सगीर
गजल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
साधक
साधक
सतीश तिवारी 'सरस'
*भादो श्री कृष्णाष्टमी ,उदय कृष्ण अवतार (कुंडलिया)*
*भादो श्री कृष्णाष्टमी ,उदय कृष्ण अवतार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
सुस्ता लीजिये - दीपक नीलपदम्
सुस्ता लीजिये - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
3456🌷 *पूर्णिका* 🌷
3456🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
बस नेक इंसान का नाम
बस नेक इंसान का नाम
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
तिरंगा
तिरंगा
लक्ष्मी सिंह
जो हार नहीं मानते कभी, जो होते कभी हताश नहीं
जो हार नहीं मानते कभी, जो होते कभी हताश नहीं
महेश चन्द्र त्रिपाठी
वे सोचते हैं कि मार कर उनको
वे सोचते हैं कि मार कर उनको
VINOD CHAUHAN
प्रेम की पाती
प्रेम की पाती
Awadhesh Singh
एक इस आदत से, बदनाम यहाँ हम हो गए
एक इस आदत से, बदनाम यहाँ हम हो गए
gurudeenverma198
खूबसूरत बुढ़ापा
खूबसूरत बुढ़ापा
Surinder blackpen
" खामोशी "
Aarti sirsat
Loading...