Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Oct 2022 · 1 min read

नेकियां उसने गिनके रक्खी हैं

इल्म जिसको नहीं गुनाहों का ।
नेकियां उसने गिन के रक्खी हैं ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
12 Likes · 124 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
बढ़े चलो तुम हिम्मत करके, मत देना तुम पथ को छोड़ l
बढ़े चलो तुम हिम्मत करके, मत देना तुम पथ को छोड़ l
Shyamsingh Lodhi (Tejpuriya)
सपना
सपना
ओनिका सेतिया 'अनु '
जिस प्रकार सूर्य पृथ्वी से इतना दूर होने के बावजूद भी उसे अप
जिस प्रकार सूर्य पृथ्वी से इतना दूर होने के बावजूद भी उसे अप
Sukoon
Heart Wishes For The Wave.
Heart Wishes For The Wave.
Manisha Manjari
मन के मंदिर में
मन के मंदिर में
Divya Mishra
एक नसीहत
एक नसीहत
Shyam Sundar Subramanian
तू मेरी हीर बन गई होती - संदीप ठाकुर
तू मेरी हीर बन गई होती - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
ज़िंदगी
ज़िंदगी
Dr. Seema Varma
*
*"नमामि देवी नर्मदे"*
Shashi kala vyas
24/236. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
24/236. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*बाल गीत (मेरा सहपाठी )*
*बाल गीत (मेरा सहपाठी )*
Rituraj shivem verma
बहुत कुछ बोल सकता हु,
बहुत कुछ बोल सकता हु,
Awneesh kumar
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
चिरैया पूछेंगी एक दिन
चिरैया पूछेंगी एक दिन
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
शमशान घाट
शमशान घाट
Satish Srijan
We host the flag of HINDI FESTIVAL but send our kids to an E
We host the flag of HINDI FESTIVAL but send our kids to an E
DrLakshman Jha Parimal
Love is not about material things. Love is not about years o
Love is not about material things. Love is not about years o
पूर्वार्थ
"इन्तजार"
Dr. Kishan tandon kranti
सास खोल देहली फाइल
सास खोल देहली फाइल
नूरफातिमा खातून नूरी
■ चाह खत्म तो राह खत्म।
■ चाह खत्म तो राह खत्म।
*Author प्रणय प्रभात*
वाणी वह अस्त्र है जो आपको जीवन में उन्नति देने व अवनति देने
वाणी वह अस्त्र है जो आपको जीवन में उन्नति देने व अवनति देने
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
💐अज्ञात के प्रति-111💐
💐अज्ञात के प्रति-111💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
समस्या का समाधान
समस्या का समाधान
Paras Nath Jha
International Chess Day
International Chess Day
Tushar Jagawat
कुछ देर तुम ऐसे ही रहो
कुछ देर तुम ऐसे ही रहो
gurudeenverma198
फितरत
फितरत
Dr fauzia Naseem shad
अब की बार पत्थर का बनाना ए खुदा
अब की बार पत्थर का बनाना ए खुदा
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
Gulab ke hasin khab bunne wali
Gulab ke hasin khab bunne wali
Sakshi Tripathi
नित्य करते जो व्यायाम ,
नित्य करते जो व्यायाम ,
Kumud Srivastava
सत्यबोध
सत्यबोध
Bodhisatva kastooriya
Loading...