Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Dec 2022 · 1 min read

नींद पर लिखे अशआर

नींद आंखों में जब नहीं आती।
ज़ायके करवटों के लेते हैं ।।

मेरे हिस्से की नींद दे मुझको ।
अभी आंखों के ख़्वाब बाक़ी है ।।

ख़्वाब सारे अधूरे निकले थे ।
नींद कच्ची थी मेरी आंखों की ।।

नींद अपना सुकून खो बैठे ।
ख़्वाब रखना न इतने आंखों में ।।

नींद , मुद्दत से रूठी बैठी है ।
ख़्वाब देखें हैं फिर भी आंखों ने ।।

ख़्वाब में हमसे मिल कभी आके।
मेरी आंखों को नींद आती है ।।

ख़्वाब देखा था मेरी आँखों ने ।
तुम मुझे नींद से जगा बैठे ।।

नींद वाक़िफ नहीं हक़ीक़त से ।
ख़्वाब आँखों में ना समाते हैं ।।

नींद हमने निचोड़ कर देखी ।
ख्वाब-ए-ताबीर कुछ नहीं निकली ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
13 Likes · 137 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
*भला कैसा ये दौर है*
*भला कैसा ये दौर है*
sudhir kumar
ବିଶ୍ୱାସରେ ବିଷ
ବିଶ୍ୱାସରେ ବିଷ
Bidyadhar Mantry
दो अक्टूबर
दो अक्टूबर
नूरफातिमा खातून नूरी
ऐसा क्यूं है??
ऐसा क्यूं है??
Kanchan Alok Malu
वो भ्रम है वास्तविकता नहीं है
वो भ्रम है वास्तविकता नहीं है
Keshav kishor Kumar
बिखरा ख़ज़ाना
बिखरा ख़ज़ाना
Amrita Shukla
ईश्क में यार थोड़ा सब्र करो।
ईश्क में यार थोड़ा सब्र करो।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
रक्त संबंध
रक्त संबंध
Dr. Pradeep Kumar Sharma
सबने सलाह दी यही मुॅंह बंद रखो तुम।
सबने सलाह दी यही मुॅंह बंद रखो तुम।
सत्य कुमार प्रेमी
विभजन
विभजन
Bodhisatva kastooriya
मैं ज्योति हूँ निरन्तर जलती रहूँगी...!!!!
मैं ज्योति हूँ निरन्तर जलती रहूँगी...!!!!
Jyoti Khari
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
फितरत
फितरत
kavita verma
सबको सिर्फ़ चमकना है अंधेरा किसी को नहीं चाहिए।
सबको सिर्फ़ चमकना है अंधेरा किसी को नहीं चाहिए।
Harsh Nagar
बखान सका है कौन
बखान सका है कौन
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
कबीरपंथ से कबीर ही गायब / मुसाफ़िर बैठा
कबीरपंथ से कबीर ही गायब / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
इन्सान बन रहा महान
इन्सान बन रहा महान
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
15--🌸जानेवाले 🌸
15--🌸जानेवाले 🌸
Mahima shukla
पहाड़ की सोच हम रखते हैं।
पहाड़ की सोच हम रखते हैं।
Neeraj Agarwal
कजरी
कजरी
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
गए वे खद्दर धारी आंसू सदा बहाने वाले।
गए वे खद्दर धारी आंसू सदा बहाने वाले।
कुंवर तुफान सिंह निकुम्भ
जीवन की सुरुआत और जीवन का अंत
जीवन की सुरुआत और जीवन का अंत
Rituraj shivem verma
🙅पक्का वादा🙅
🙅पक्का वादा🙅
*प्रणय प्रभात*
दिकपाल छंदा धारित गीत
दिकपाल छंदा धारित गीत
Sushila joshi
आ जाये मधुमास प्रिय
आ जाये मधुमास प्रिय
Satish Srijan
मैं रंग बन के बहारों में बिखर जाऊंगी
मैं रंग बन के बहारों में बिखर जाऊंगी
Shweta Soni
शिमला
शिमला
Dr Parveen Thakur
आंसूओं की नमी का क्या करते
आंसूओं की नमी का क्या करते
Dr fauzia Naseem shad
तुम्हारे महबूब के नाजुक ह्रदय की तड़पती नसों की कसम।
तुम्हारे महबूब के नाजुक ह्रदय की तड़पती नसों की कसम।
★ IPS KAMAL THAKUR ★
पिया - मिलन
पिया - मिलन
Kanchan Khanna
Loading...