Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Jun 2016 · 1 min read

नव विहान

नव विहान
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰
नव विहान नव ऊर्जा लेकर,
जगत पटल रोशन करता है ।
व्यग्र-तृप्त, हर्षित-विशाद पर
मानस नित दोलन करता है ।।

पंछी गण नव कलरव लेकर
गीत विहंगम नित्य सुनाती ।
जीवन के हर श्रृंग-गर्त को
समय सरि दोहन करती है ।।

निद्रित चेतन सर्द अनिल से
जागृत नित नूतन करता है ।
सत्व अनल सम आत्माग्नि को
सात्विक संशोधन करताहै ।।

सत्य और देवत्व हृदय में
नित्य ही आवाहन करता है ।
न्याय प्रेम की गुणवत्ता की
आत्मा नित मंथन करती है ।।

मानव में मानवता लाओ
जीवन के समरसता लाओ ।
बनके नित विनीत विनय ही
देवों सा जीवन बनता है ।।

????
सामरिक अरुण
NDS झारखण्ड
27/04/2016

Language: Hindi
1 Comment · 638 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
आशा
आशा
नवीन जोशी 'नवल'
युँ ही नहीं जिंदगी हर लम्हा अंदर से तोड़ रही,
युँ ही नहीं जिंदगी हर लम्हा अंदर से तोड़ रही,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
सावन साजन और सजनी
सावन साजन और सजनी
Ram Krishan Rastogi
गलतियां
गलतियां
Dr Parveen Thakur
*घर के बाहर जाकर जलता, दीप एक रख आओ(गीत)*
*घर के बाहर जाकर जलता, दीप एक रख आओ(गीत)*
Ravi Prakash
कुछ पल
कुछ पल
Mahender Singh
मेरे राम
मेरे राम
Ajay Mishra
प्रदूषण-जमघट।
प्रदूषण-जमघट।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
बिहार, दलित साहित्य और साहित्य के कुछ खट्टे-मीठे प्रसंग / MUSAFIR BAITHA
बिहार, दलित साहित्य और साहित्य के कुछ खट्टे-मीठे प्रसंग / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
2710.*पूर्णिका*
2710.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जिंदगी
जिंदगी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
है शारदे मां
है शारदे मां
नेताम आर सी
"शिक्षक तो बोलेगा”
पंकज कुमार कर्ण
Sishe ke makan ko , ghar banane ham chale ,
Sishe ke makan ko , ghar banane ham chale ,
Sakshi Tripathi
याद रखना
याद रखना
Dr fauzia Naseem shad
सम्पूर्ण सनातन
सम्पूर्ण सनातन
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
पर्यावरण
पर्यावरण
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
काश कही ऐसा होता
काश कही ऐसा होता
Swami Ganganiya
अब मेरी मजबूरी देखो
अब मेरी मजबूरी देखो
VINOD CHAUHAN
जब कभी प्यार  की वकालत होगी
जब कभी प्यार की वकालत होगी
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
ईश्वर
ईश्वर
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
दर्द
दर्द
Bodhisatva kastooriya
मन नहीं होता
मन नहीं होता
Surinder blackpen
जीवन की सच्चाई
जीवन की सच्चाई
Sidhartha Mishra
मत कुरेदो, उँगलियाँ जल जायेंगीं
मत कुरेदो, उँगलियाँ जल जायेंगीं
Atul "Krishn"
💐Prodigy Love-3💐
💐Prodigy Love-3💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
उसी पथ से
उसी पथ से
Kavita Chouhan
सुन लो दुष्ट पापी अभिमानी
सुन लो दुष्ट पापी अभिमानी
Vishnu Prasad 'panchotiya'
करगिल विजय दिवस
करगिल विजय दिवस
Neeraj Agarwal
सुकून में जिंदगी है मगर जिंदगी में सुकून कहां
सुकून में जिंदगी है मगर जिंदगी में सुकून कहां
कवि दीपक बवेजा
Loading...