Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Dec 2019 · 1 min read

नया साल

—–नया साल——–
—————–
नये साल के आगमन पर
जन गण मन मस्तिष्क पर

चल पाएगा कोई आलोड़न
आएगा क्या कोई परिवर्तन

बदल पाएगी अमूमन सोच
नहीं लगे किसी पर खरोंच

चाहे कोई जाए मुंबई पटना
ना घटे निर्भय जैसी दुर्घटना

बच्ची हो या कोई हो नारी
रास्ते ना आएं कोई दुष्चारी

सदचारी हो सब व्याभिचारी
आमजन रहें सदैव आभारी

ना जलानी पड़ें मोमबत्तियां
ना हो बदिंशे ,ना आपत्तियां

कहीं भय ना हो,नहीं तर्जन
एक दूजे हेतु करें समर्पण

रिश्वतखोरी और बेरोजगारी
देश को मारे मंदी महामारी

दशा किसी की ना हो दुर्दशा
कहीं भी हो ना कोई समस्या

गुलशन में हो सदा हरियाली
चहुँओर हो सदैव खुशहाली

भूखा मरे ना कोई भी गरीब
खुल जाएं सोए हुए नसीब

चारों दिशाओं में हो विकास
कोई किसी का ना हो दास

खुल जाए किस्मत -किताब
बही खातों में नहीं हो हिसाब

राजनीति नहीं हो यहाँ गन्दी
देश में ना हो आर्थिक मन्दी

सोच में ना हो कोई भी खोट
झूठ बलबूते पर ना हो वोट

सभी को मिले काम धन्धा
जलता चुल्हा ना हो ठण्डा

नव वर्ष में हो जाए गर ऐसा
सब की जेब में हो गर पैसा

सुखविंद्र नहीं हो कोई बेहाल
देश हो जाए समृद्ध खुशहाल

सुखविंद्र सिंह मनसीरत
खेड़ी राओ वाली (कैथल)

Language: Hindi
206 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कीमत बढ़ा दी आपकी, गुनाह हुआ आँखों से ll
कीमत बढ़ा दी आपकी, गुनाह हुआ आँखों से ll
गुप्तरत्न
.......अधूरी........
.......अधूरी........
Naushaba Suriya
बदलने लगते है लोगो के हाव भाव जब।
बदलने लगते है लोगो के हाव भाव जब।
Rj Anand Prajapati
*नेता टुटपुंजिया हुआ, नेता है मक्कार (कुंडलिया)*
*नेता टुटपुंजिया हुआ, नेता है मक्कार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
माह -ए -जून में गर्मी से राहत के लिए
माह -ए -जून में गर्मी से राहत के लिए
सिद्धार्थ गोरखपुरी
दो पल की खुशी और दो पल का ही गम,
दो पल की खुशी और दो पल का ही गम,
Soniya Goswami
* राष्ट्रभाषा हिन्दी *
* राष्ट्रभाषा हिन्दी *
surenderpal vaidya
सोच~
सोच~
दिनेश एल० "जैहिंद"
किताब
किताब
Sûrëkhâ
शेखर ✍️
शेखर ✍️
शेखर सिंह
15, दुनिया
15, दुनिया
Dr Shweta sood
महामना फुले बजरिए हाइकु / मुसाफ़िर बैठा
महामना फुले बजरिए हाइकु / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
क्या रावण अभी भी जिन्दा है
क्या रावण अभी भी जिन्दा है
Paras Nath Jha
23/48.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/48.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
दोस्ती
दोस्ती
Kanchan Alok Malu
हिंदी
हिंदी
Pt. Brajesh Kumar Nayak
श्री कृष्ण भजन
श्री कृष्ण भजन
Khaimsingh Saini
हमारे हाथ से एक सबक:
हमारे हाथ से एक सबक:
पूर्वार्थ
मंज़िल को पाने के लिए साथ
मंज़िल को पाने के लिए साथ
DrLakshman Jha Parimal
■ बड़े काम की बात।।
■ बड़े काम की बात।।
*प्रणय प्रभात*
ज़िंदगी नही॔ होती
ज़िंदगी नही॔ होती
Dr fauzia Naseem shad
వీరుల స్వాత్యంత్ర అమృత మహోత్సవం
వీరుల స్వాత్యంత్ర అమృత మహోత్సవం
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
"पहचानिए"
Dr. Kishan tandon kranti
*मन राह निहारे हारा*
*मन राह निहारे हारा*
Poonam Matia
कैसा
कैसा
Ajay Mishra
" शिक्षक "
Pushpraj Anant
कौन याद दिलाएगा शक्ति
कौन याद दिलाएगा शक्ति
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
हे! नव युवको !
हे! नव युवको !
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
बड़े ही फक्र से बनाया है
बड़े ही फक्र से बनाया है
VINOD CHAUHAN
तुम वादा करो, मैं निभाता हूँ।
तुम वादा करो, मैं निभाता हूँ।
अजहर अली (An Explorer of Life)
Loading...