Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Apr 2023 · 1 min read

नफ़रत के सौदागर

जिससे प्यार के गीत निकलें
उन्हें उस कलम से नफ़रत है!
जो दो दिलों को पास ले आए
उन्हें उस चलन से नफ़रत है!
जात-पात और ऊंच-नीच की
सारी दीवारें लांघकर एक दिन!
जो मर कर भी निभाई जाए
उन्हें उस कसम से नफ़रत है!
#romantic #शायरी #सूफी
#इश्क #विद्रोही #कवि #poet
#इंकलाबी #शायर #love #हक

Language: Hindi
391 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"आँखें तो"
Dr. Kishan tandon kranti
■ सनातन सत्य...
■ सनातन सत्य...
*प्रणय प्रभात*
बेईमान बाला
बेईमान बाला
singh kunwar sarvendra vikram
हर तूफ़ान के बाद खुद को समेट कर सजाया है
हर तूफ़ान के बाद खुद को समेट कर सजाया है
Pramila sultan
जज्बात
जज्बात
अखिलेश 'अखिल'
गीत
गीत
गुमनाम 'बाबा'
3365.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3365.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
** हद हो गई  तेरे इंकार की **
** हद हो गई तेरे इंकार की **
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
अच्छा बोलने से अगर अच्छा होता,
अच्छा बोलने से अगर अच्छा होता,
Manoj Mahato
मन की कामना
मन की कामना
Basant Bhagawan Roy
दहेज ना लेंगे
दहेज ना लेंगे
भरत कुमार सोलंकी
बे-असर
बे-असर
Sameer Kaul Sagar
हम हिंदुस्तानियों की पहचान है हिंदी।
हम हिंदुस्तानियों की पहचान है हिंदी।
Ujjwal kumar
जय मातु! ब्रह्मचारिणी,
जय मातु! ब्रह्मचारिणी,
Neelam Sharma
अपने साथ तो सब अपना है
अपने साथ तो सब अपना है
Dheerja Sharma
क्या खोकर ग़म मनाऊ, किसे पाकर नाज़ करूँ मैं,
क्या खोकर ग़म मनाऊ, किसे पाकर नाज़ करूँ मैं,
Chandrakant Sahu
* इंसान था रास्तों का मंजिल ने मुसाफिर ही बना डाला...!
* इंसान था रास्तों का मंजिल ने मुसाफिर ही बना डाला...!
Vicky Purohit
कंटक जीवन पथ के राही
कंटक जीवन पथ के राही
AJAY AMITABH SUMAN
बढ़ता चल
बढ़ता चल
Mahetaru madhukar
तेरा हासिल
तेरा हासिल
Dr fauzia Naseem shad
जीवन भी एक विदाई है,
जीवन भी एक विदाई है,
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
*गर्मी की छुट्टियॉं (बाल कविता)*
*गर्मी की छुट्टियॉं (बाल कविता)*
Ravi Prakash
A setback is,
A setback is,
Dhriti Mishra
जब अपनी बात होती है,तब हम हमेशा सही होते हैं। गलत रहने के बा
जब अपनी बात होती है,तब हम हमेशा सही होते हैं। गलत रहने के बा
Paras Nath Jha
आज तू नहीं मेरे साथ
आज तू नहीं मेरे साथ
हिमांशु Kulshrestha
मैंने, निज मत का दान किया;
मैंने, निज मत का दान किया;
पंकज कुमार कर्ण
राम पर हाइकु
राम पर हाइकु
Sandeep Pande
समय अपवाद से नहीं ✨️ यथार्थ से चलता है
समय अपवाद से नहीं ✨️ यथार्थ से चलता है
Damini Narayan Singh
संसार में
संसार में
Brijpal Singh
झूठ बोलते हैं वो,जो कहते हैं,
झूठ बोलते हैं वो,जो कहते हैं,
Dr. Man Mohan Krishna
Loading...