Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Jul 2022 · 1 min read

धैर्य रखना सीखों

ऐ मेरे बच्चें सुन लो
एक पते की बात
आज तुम्हें बताती हूँ।
खुद को बनाना है काबिल तो,
पहले धैर्य रखना तुम सीखो।
जिन्दगी मे धैर्य का होना अति आवश्यक है।
धैर्य जिन्दगी का वह हिस्सा है
जिसकी जरूरत पग -पग पर पड़ती है।
अपने अन्दर की कमजोरी को
तुम्हें दूर भगाना है तो
सबसे पहले अपने अन्दर
धैर्य को जगाना होगा।
अपने गुस्सा पर तुम्हें
अगर काबू पाना है तो
सबसे पहले जीवन मे
धैर्य को अपना होगा।
सुनने की आदत को अपने
अन्दर विकसित करना होगा।
अपने भावनाओं पर तुम्हें
नियंत्रण करना सिखना होगा।
जितना जरूरत है तुम्हें
उतना ही बोलना होगा।
इसके लिए तुम्हें सबसे पहले
धैर्य रखना सिखना होगा।
अपने लक्ष्य का कर निर्धारण कर
धैर्य के साथ तुम्हें बढना होगा।
यह जीवन है आसानी से
ऐसे ही कुछ नही देता है।
अपनी मंजिल पाने के लिए
धैर्य के साथ
तुम्हे पुरा तैयार रहना होगा।
धैर्य तुम्हारा टूट गया अगर
कहाँ सफल हो पाओगे।
कहाँ फिर अपनी मंजिल को
तुम हासिल कर पाओगे।
इसलिए ऐ मेरे बच्चो
सबसे पहले अपने अन्दर
धैर्य को विकसित करना होगा।
धैर्य के साथ कर्म पथ आगे को
बढते रहना होगा।
तब जाकर तुम जीवन मे
अपनी उपलब्धियाँ हासिल कर पाओगें
जीवन मे कुछ बन पाओगे।

अनामिका

Language: Hindi
3 Likes · 2 Comments · 360 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*हृदय की वेदना हर एक से कहना नहीं अच्छा (मुक्तक)*
*हृदय की वेदना हर एक से कहना नहीं अच्छा (मुक्तक)*
Ravi Prakash
जिंदगी का मुसाफ़िर
जिंदगी का मुसाफ़िर
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
पर्यावरण
पर्यावरण
नवीन जोशी 'नवल'
"ताले चाबी सा रखो,
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
चुप रहना ही खाशियत है इस दौर की
चुप रहना ही खाशियत है इस दौर की
डॉ. दीपक मेवाती
रखो शीशे की तरह दिल साफ़….ताकी
रखो शीशे की तरह दिल साफ़….ताकी
shabina. Naaz
नदी
नदी
Kumar Kalhans
गुजरात माडल ध्वस्त
गुजरात माडल ध्वस्त
Shekhar Chandra Mitra
सदा किया संघर्ष सरहद पर,विजयी इतिहास हमारा।
सदा किया संघर्ष सरहद पर,विजयी इतिहास हमारा।
Neelam Sharma
💐प्रेम कौतुक-198💐
💐प्रेम कौतुक-198💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
खुले आँगन की खुशबू
खुले आँगन की खुशबू
Manisha Manjari
मेरा भारत
मेरा भारत
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
बना दिया हमको ऐसा, जिंदगी की राहों ने
बना दिया हमको ऐसा, जिंदगी की राहों ने
gurudeenverma198
सूर्य अराधना और षष्ठी छठ पर्व के समापन पर प्रकृति रानी यह सं
सूर्य अराधना और षष्ठी छठ पर्व के समापन पर प्रकृति रानी यह सं
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
2749. *पूर्णिका*
2749. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
हिद्दत-ए-नज़र
हिद्दत-ए-नज़र
Shyam Sundar Subramanian
निराशा हाथ जब आए, गुरू बन आस आ जाए।
निराशा हाथ जब आए, गुरू बन आस आ जाए।
डॉ.सीमा अग्रवाल
आज परी की वहन पल्लवी,पिंकू के घर आई है
आज परी की वहन पल्लवी,पिंकू के घर आई है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
चाहे मिल जाये अब्र तक।
चाहे मिल जाये अब्र तक।
Satish Srijan
#लघुकथा-
#लघुकथा-
*Author प्रणय प्रभात*
प्रकृति को त्यागकर, खंडहरों में खो गए!
प्रकृति को त्यागकर, खंडहरों में खो गए!
विमला महरिया मौज
चाह
चाह
जय लगन कुमार हैप्पी
एक ख़्वाब की सी रही
एक ख़्वाब की सी रही
Dr fauzia Naseem shad
बे-आवाज़. . . .
बे-आवाज़. . . .
sushil sarna
आकाश के नीचे
आकाश के नीचे
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
पथ प्रदर्शक पिता
पथ प्रदर्शक पिता
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
इंटरनेट
इंटरनेट
Vedha Singh
.......*तु खुदकी खोज में निकल* ......
.......*तु खुदकी खोज में निकल* ......
Naushaba Suriya
स्वयं अपने चित्रकार बनो
स्वयं अपने चित्रकार बनो
Ritu Asooja
ग़र कुंदन जैसी चमक चाहते हो पाना,
ग़र कुंदन जैसी चमक चाहते हो पाना,
SURYAA
Loading...