Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Nov 2023 · 1 min read

धनतेरस और रात दिवाली🙏🎆🎇

धनतेरस और रात दिवाली🙏

💐💐💐💐💐💐🙏🙏💐💐💐💐💐💐

धन्य ? बांका नगरी भारत बिहार
जहां पापहरणी मंदराचल पर्वत

समुद्र मंथन का सबल मथानी
अड़िग खडा है पंचायत बौसी

शिव का वासुकी नाग बना रस्सी
कच्छप विष्णु रूप शिला आधार

देव दानव ने किया सागर समुद्र
मंथन जो था इक परीक्षण विशाल

रतनगर्भा से निकला रत्न चौदह
स्वर्गीय चमत्कारी एक बेमिशाल

कार्तिक त्रयोदशी लक्ष्मी का दिन
अमृत कलश लिए प्रकट हुए थे

विष्णु धनन्वंतरी बैद्य भगवान
अवतार समझ विष्णु को जग

पूजते धनतेरस जीव संपदा का
धनवर्षा वैभव लक्ष्मी अपरंपार

वैभव विशाल शक्तिकलश मान
परंपरा शुरू बर्तन पूजन जग ज़हान

अमृत धन रत्न थाभरा कलश मे
प्राणतत्व भोजन इक जीव आधार

सोना चांदी बीज धनियां खरीदते
लक्ष्मी गणेश शिव वासुकी मान

इतिहास यही वर्णित पुराणों में
सत्यता सिद्ध होती जब श्मशान

बिके राम के पूर्वज राजा हरिश्चंद्र
काशीनगरी डोम के हाथ बोले थे

धनतेरस और रात दिवाली बली
चढ़ाई के पूजै काली सो हम तुम

को लेंगें मोल देंगे मुहर गांठ से
खोल चलो घाट पर करो निवास

भए आज से तू हमरे दास सत्य
मर्यादा के खातिर पत्नी शैब्या

पुत्र रोहिताश्व निज जीवन को
बेच बने युगों का इक नृप महान

त्याग तपस्या बलिदान का मूरत
वंश अवतारी राम कृष्ण भगवान

💐💐💐💐💐🙏🙏🙏🌹🌷🌷🌷🌷

तारकेश्‍वर प्रसाद तरूण

Language: Hindi
1 Like · 114 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
View all
You may also like:
मेरी ख़्वाहिश ने
मेरी ख़्वाहिश ने
Dr fauzia Naseem shad
परिभाषाएं अनगिनत,
परिभाषाएं अनगिनत,
महेश चन्द्र त्रिपाठी
बचपन
बचपन
नूरफातिमा खातून नूरी
फनीश्वरनाथ रेणु के जन्म दिवस (4 मार्च) पर विशेष
फनीश्वरनाथ रेणु के जन्म दिवस (4 मार्च) पर विशेष
Paras Nath Jha
खाक मुझको भी होना है
खाक मुझको भी होना है
VINOD CHAUHAN
आज वो भी भारत माता की जय बोलेंगे,
आज वो भी भारत माता की जय बोलेंगे,
Minakshi
'मजदूर'
'मजदूर'
Godambari Negi
* सामने आ गये *
* सामने आ गये *
surenderpal vaidya
दिल
दिल
Dr Archana Gupta
गज़रा
गज़रा
Alok Saxena
ग़ज़ल/नज़्म - ये हर दिन और हर रात हमारी होगी
ग़ज़ल/नज़्म - ये हर दिन और हर रात हमारी होगी
अनिल कुमार
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
23/111.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/111.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कैसे हाल-हवाल बचाया मैंने
कैसे हाल-हवाल बचाया मैंने
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
आज की बेटियां
आज की बेटियां
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
डिग्रियों का कभी अभिमान मत करना,
डिग्रियों का कभी अभिमान मत करना,
Ritu Verma
"बर्बादी का बीज"
Dr. Kishan tandon kranti
वक्त बदलते ही चूर- चूर हो जाता है,
वक्त बदलते ही चूर- चूर हो जाता है,
सिद्धार्थ गोरखपुरी
Ranjeet Kumar Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
सितारा
सितारा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*मेरा विश्वास*
*मेरा विश्वास*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
*चंदा दल को दीजिए, काला धन साभार (व्यंग्य कुंडलिया)*
*चंदा दल को दीजिए, काला धन साभार (व्यंग्य कुंडलिया)*
Ravi Prakash
ख्वाबों से परहेज़ है मेरा
ख्वाबों से परहेज़ है मेरा "वास्तविकता रूह को सुकून देती है"
Rahul Singh
हर राह मौहब्बत की आसान नहीं होती ।
हर राह मौहब्बत की आसान नहीं होती ।
Phool gufran
जीवन
जीवन
sushil sarna
जब मैंने एक तिरंगा खरीदा
जब मैंने एक तिरंगा खरीदा
SURYA PRAKASH SHARMA
लक्ष्य हासिल करना उतना सहज नहीं जितना उसके पूर्ति के लिए अभि
लक्ष्य हासिल करना उतना सहज नहीं जितना उसके पूर्ति के लिए अभि
Sukoon
कवित्व प्रतिभा के आप क्यों ना धनी हों ,पर आप में यदि व्यावहा
कवित्व प्रतिभा के आप क्यों ना धनी हों ,पर आप में यदि व्यावहा
DrLakshman Jha Parimal
रंजीत शुक्ल
रंजीत शुक्ल
Ranjeet Kumar Shukla
वन को मत काटो
वन को मत काटो
Buddha Prakash
Loading...