Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Jun 2016 · 1 min read

दोस्ती

आओ
जिंदगी से दोस्ती कर लें फिर से
जी भर कर बतियायें
रूठने पर मना लें इसको
हौले से प्यार से
दबा दें इसकी हथेली
इसके कांधे पर
सिर रख कर शिकायत कर लें
आओ, फिर से
जिंदगी से दोस्ती कर लें
तोड़ दें वर्जनाएँ
मन का कहना मान लें
जो भी अच्छा लगे
उसे जी भर कर जी लें
आओ, जिंदगी से दोस्ती कर लें।

Language: Hindi
Tag: कविता
1 Like · 401 Views
You may also like:
सनातन संस्कृति
मनोज कर्ण
जगदम्बा के स्वागत में आँखें बिछायेंगे।
Manisha Manjari
दूर हमसे
Dr fauzia Naseem shad
✍️अज़ीब इत्तेफ़ाक है✍️
'अशांत' शेखर
कैसे गाऊँ गीत मैं, खोया मेरा प्यार
Dr Archana Gupta
" बिल्ली "
Dr Meenu Poonia
मुरली मनेहर कान्हा प्यारे
VINOD KUMAR CHAUHAN
कुछ जुगनू उजाला कर गए।
Taj Mohammad
✍️कैद ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
🌺🌻🌷तुम मिलोगे मुझे यह वादा करो🌺🌻🌷
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
धरती से मिलने को बादल जब भी रोने लग गया।
सत्य कुमार प्रेमी
नदी बन जा तू
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
अविरल
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हुनर बाज
Seema 'Tu hai na'
बच्चों को खूब लुभाते आम
Ashish Kumar
"मौन "
DrLakshman Jha Parimal
Power of Brain
Nishant prakhar
कभी-कभी आते जीवन में...
डॉ.सीमा अग्रवाल
मोहिनी
लक्ष्मी सिंह
आम आदमी का शायर
Shekhar Chandra Mitra
स्त्री और नदी का स्वच्छन्द विचरण घातक और विनाशकारी
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
रिश्वत*【कुंडलिया】
Ravi Prakash
है कौन सही है गलत क्या रक्खा इस नादानी में,
कवि गोपाल पाठक''कृष्णा''
अपना अपना आवेश....
Ranjit Tiwari
'माॅं बहुत बीमार है'
Rashmi Sanjay
हम रात भर यूहीं तरसते रहे
Ram Krishan Rastogi
खत्म हुआ मतदान अब
विनोद सिल्ला
अमृत महोत्सव
वीर कुमार जैन 'अकेला'
अजीब कशमकश
Anjana Jain
हमारे पापा
Anamika Singh
Loading...