Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Aug 2023 · 1 min read

दोलत – शोरत कर रहे, हम सब दिनों – रात।

दोलत – शोरत कर रहे, हम सब दिनों – रात।
सिकंदर दुनियाँ जीतता, गया व खाली हाथ।

दया – धर्म करते रहो, अपने दोनों हाथ।
अंत समय आयेगा, यही हमारे साथ।।

धन – छुट्टे काया जलती, भाई – बन्दु के हाथ।
पंछी अकेला उड़ता, दान – पुण्य ले साथ।।

लीलाधर चौबिसा (अनिल)
चित्तौड़गढ़ 9829246588

292 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
★मां ★
★मां ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
जवानी
जवानी
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
■ आज़ाद भारत के दूसरे पटेल।
■ आज़ाद भारत के दूसरे पटेल।
*Author प्रणय प्रभात*
इश्क अमीरों का!
इश्क अमीरों का!
Sanjay ' शून्य'
मैं भारत का जवान हूं...
मैं भारत का जवान हूं...
AMRESH KUMAR VERMA
मुद्दतों बाद फिर खुद से हुई है, मोहब्बत मुझे।
मुद्दतों बाद फिर खुद से हुई है, मोहब्बत मुझे।
Manisha Manjari
मोहब्बत
मोहब्बत
Shriyansh Gupta
वृंदा तुलसी पेड़ स्वरूपा
वृंदा तुलसी पेड़ स्वरूपा
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
न शायर हूँ, न ही गायक,
न शायर हूँ, न ही गायक,
Satish Srijan
Love is
Love is
Otteri Selvakumar
मेरे चेहरे पर मुफलिसी का इस्तेहार लगा है,
मेरे चेहरे पर मुफलिसी का इस्तेहार लगा है,
Lokesh Singh
If your heart is
If your heart is
Vandana maurya
" यादों की शमा"
Pushpraj Anant
तुम मेरे हो
तुम मेरे हो
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
"म्हारी छोरियां छोरों से कम हैं के"
Abdul Raqueeb Nomani
13, हिन्दी- दिवस
13, हिन्दी- दिवस
Dr Shweta sood
"तब कैसा लगा होगा?"
Dr. Kishan tandon kranti
दर्द और जिंदगी
दर्द और जिंदगी
Rakesh Rastogi
रद्दी के भाव बिक गयी मोहब्बत मेरी
रद्दी के भाव बिक गयी मोहब्बत मेरी
Abhishek prabal
दोहे
दोहे
अशोक कुमार ढोरिया
पश्चिम हावी हो गया,
पश्चिम हावी हो गया,
sushil sarna
#हँसी
#हँसी
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
आजादी का
आजादी का "अमृत महोत्सव"
राकेश चौरसिया
नींद में गहरी सोए हैं
नींद में गहरी सोए हैं
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
फूलों सी मुस्कुराती हुई शान हो आपकी।
फूलों सी मुस्कुराती हुई शान हो आपकी।
Phool gufran
'सफलता' वह मुकाम है, जहाँ अपने गुनाहगारों को भी गले लगाने से
'सफलता' वह मुकाम है, जहाँ अपने गुनाहगारों को भी गले लगाने से
satish rathore
*सब पर मकान-गाड़ी, की किस्त की उधारी (हिंदी गजल)*
*सब पर मकान-गाड़ी, की किस्त की उधारी (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
ख़्वाब आंखों में टूट जाते है
ख़्वाब आंखों में टूट जाते है
Dr fauzia Naseem shad
💐प्रेम कौतुक-361💐
💐प्रेम कौतुक-361💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
काव्य-अनुभव और काव्य-अनुभूति
काव्य-अनुभव और काव्य-अनुभूति
कवि रमेशराज
Loading...