Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Feb 2017 · 1 min read

दुर्मिल सवैया :- भाग 6 -चितचोर बड़ा बृजभान सखी ॥

दुर्मिल सवैया छंद :– भाग -5
चित चोर बड़ा बृजभान सखी ॥
8 सगण / 4 पद
रचनाकार :–अनुज तिवारी “इंदवार”

॥ 15 ॥

पख मोर सजा सर मस्तक में ।
इक टीक ललाट निठार लिए ।

बल पौरुष से परिपूर्ण बने ।
शिशु वेद परंगत सार लिए ।

स्त्रुति की कर जोड़ नरायण की ।
सब देव खड़े उपहार लिए ।

सुत देवकि पुष्प समर्पित है ।
शुभ अर्पित आशिष धार लिए ।

Language: Hindi
650 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
टिप्पणी
टिप्पणी
Adha Deshwal
रो रो कर बोला एक पेड़
रो रो कर बोला एक पेड़
Buddha Prakash
हदें
हदें
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
'बेटी बचाओ-बेटी पढाओ'
'बेटी बचाओ-बेटी पढाओ'
Bodhisatva kastooriya
"" *प्रेमलता* "" ( *मेरी माँ* )
सुनीलानंद महंत
सत्य
सत्य
लक्ष्मी सिंह
डॉ अरुण कुमार शास्त्री 👌💐👌
डॉ अरुण कुमार शास्त्री 👌💐👌
DR ARUN KUMAR SHASTRI
इस दरिया के पानी में जब मिला,
इस दरिया के पानी में जब मिला,
Sahil Ahmad
2644.पूर्णिका
2644.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मित्रता
मित्रता
Shashi kala vyas
पिता
पिता
Manu Vashistha
जिंदगी के रंगमंच में हम सभी अकेले हैं।
जिंदगी के रंगमंच में हम सभी अकेले हैं।
Neeraj Agarwal
हमेशा समय के साथ चलें,
हमेशा समय के साथ चलें,
नेताम आर सी
ज़िंदगी यूँ तो बड़े आज़ार में है,
ज़िंदगी यूँ तो बड़े आज़ार में है,
Kalamkash
* मन बसेगा नहीं *
* मन बसेगा नहीं *
surenderpal vaidya
गणतंत्र दिवस
गणतंत्र दिवस
विजय कुमार अग्रवाल
माँ-बाप का मोह, बच्चे का अंधेरा
माँ-बाप का मोह, बच्चे का अंधेरा
पूर्वार्थ
कौआ और कोयल (दोस्ती)
कौआ और कोयल (दोस्ती)
VINOD CHAUHAN
जिस तरीके से तुम हो बुलंदी पे अपने
जिस तरीके से तुम हो बुलंदी पे अपने
सिद्धार्थ गोरखपुरी
जो भी पाना है उसको खोना है
जो भी पाना है उसको खोना है
Shweta Soni
"तर्के-राबता" ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
😊 #हास्य_गीत-
😊 #हास्य_गीत-
*प्रणय प्रभात*
मुझे इस दुनिया ने सिखाया अदाबत करना।
मुझे इस दुनिया ने सिखाया अदाबत करना।
Phool gufran
बितियाँ बात सुण लेना
बितियाँ बात सुण लेना
Anil chobisa
प्यार भरी चांदनी रात
प्यार भरी चांदनी रात
नूरफातिमा खातून नूरी
"दोस्ती"
Dr. Kishan tandon kranti
*कोरोना- काल में शादियाँ( छह दोहे )*
*कोरोना- काल में शादियाँ( छह दोहे )*
Ravi Prakash
इक ज़िंदगी मैंने गुजारी है
इक ज़िंदगी मैंने गुजारी है
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
आज मैंने खुद से मिलाया है खुदको !!
आज मैंने खुद से मिलाया है खुदको !!
Rachana
तमाशा जिंदगी का हुआ,
तमाशा जिंदगी का हुआ,
शेखर सिंह
Loading...