Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Aug 2023 · 1 min read

दुखों से दोस्ती कर लो,

दुखों से दोस्ती कर लो,
खुशी अच्छी लगेगी फिर
दवा से रोग कट जाये,
दुआ सच्ची लगेगी फिर

महावीर उत्तरांचली

2 Likes · 189 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
View all
You may also like:
"आत्म-निर्भरता"
*प्रणय प्रभात*
अष्टम कन्या पूजन करें,
अष्टम कन्या पूजन करें,
Neelam Sharma
युवा दिवस
युवा दिवस
Tushar Jagawat
ਉਸਦੀ ਮਿਹਨਤ
ਉਸਦੀ ਮਿਹਨਤ
विनोद सिल्ला
मेरी मायूस सी
मेरी मायूस सी
Dr fauzia Naseem shad
दोहावली
दोहावली
आर.एस. 'प्रीतम'
तस्वीरों में मुस्कुराता वो वक़्त, सजा यादों की दे जाता है।
तस्वीरों में मुस्कुराता वो वक़्त, सजा यादों की दे जाता है।
Manisha Manjari
मुझे तो मेरी फितरत पे नाज है
मुझे तो मेरी फितरत पे नाज है
नेताम आर सी
चील .....
चील .....
sushil sarna
वो आरज़ू वो इशारे कहाॅं समझते हैं
वो आरज़ू वो इशारे कहाॅं समझते हैं
Monika Arora
पहला प्यार सबक दे गया
पहला प्यार सबक दे गया
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
किसी भी देश या राज्य के मुख्या को सदैव जनहितकारी और जनकल्याण
किसी भी देश या राज्य के मुख्या को सदैव जनहितकारी और जनकल्याण
डॉ.एल. सी. जैदिया 'जैदि'
हो रहा अवध में इंतजार हे रघुनंदन कब आओगे।
हो रहा अवध में इंतजार हे रघुनंदन कब आओगे।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
सौगंध से अंजाम तक - दीपक नीलपदम्
सौगंध से अंजाम तक - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
गज़ल
गज़ल
सत्य कुमार प्रेमी
बेटीयां
बेटीयां
Aman Kumar Holy
बलिदान
बलिदान
Shyam Sundar Subramanian
जब मैं परदेश जाऊं
जब मैं परदेश जाऊं
gurudeenverma198
चंद अशआर - हिज्र
चंद अशआर - हिज्र
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
एक मां ने परिवार बनाया
एक मां ने परिवार बनाया
Harminder Kaur
औरत औकात
औरत औकात
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
यादें मोहब्बत की
यादें मोहब्बत की
Mukesh Kumar Sonkar
🙏🙏श्री गणेश वंदना🙏🙏
🙏🙏श्री गणेश वंदना🙏🙏
umesh mehra
मोहब्बत
मोहब्बत
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
जन्म गाथा
जन्म गाथा
विजय कुमार अग्रवाल
"आखिरी निशानी"
Dr. Kishan tandon kranti
23/37.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/37.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
तुम - हम और बाजार
तुम - हम और बाजार
Awadhesh Singh
अदम्य जिजीविषा के धनी श्री राम लाल अरोड़ा जी
अदम्य जिजीविषा के धनी श्री राम लाल अरोड़ा जी
Ravi Prakash
* चली रे चली *
* चली रे चली *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...