Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Oct 2022 · 1 min read

दुःख का कारण

सुख की अपेक्षा होती है जिनसे ।
दुःख का कारण बन जाते हैं ।।
जीवन समर्पण होता है जिनका ।
जग में उदाहरण बन जाते हैं ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
17 Likes · 539 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
विकल्प
विकल्प
Sanjay ' शून्य'
लाखों ख्याल आये
लाखों ख्याल आये
Surinder blackpen
तेरी हर अदा निराली है
तेरी हर अदा निराली है
नूरफातिमा खातून नूरी
😢लिव इन रिलेशनशिप😢
😢लिव इन रिलेशनशिप😢
*Author प्रणय प्रभात*
दिलो को जला दे ,लफ्ज़ो मैं हम वो आग रखते है ll
दिलो को जला दे ,लफ्ज़ो मैं हम वो आग रखते है ll
गुप्तरत्न
अक्सर कोई तारा जमी पर टूटकर
अक्सर कोई तारा जमी पर टूटकर
'अशांत' शेखर
तुम्हें पाना-खोना एकसार सा है--
तुम्हें पाना-खोना एकसार सा है--
Shreedhar
हर किसी के लिए मौसम सुहाना नहीं होता,
हर किसी के लिए मौसम सुहाना नहीं होता,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
*रामपुर रियासत को कायम रखने का अंतिम प्रयास और रामभरोसे लाल सर्राफ का ऐतिहासिक विरोध*
*रामपुर रियासत को कायम रखने का अंतिम प्रयास और रामभरोसे लाल सर्राफ का ऐतिहासिक विरोध*
Ravi Prakash
एकीकरण की राह चुनो
एकीकरण की राह चुनो
Jatashankar Prajapati
2751. *पूर्णिका*
2751. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
चाय पार्टी
चाय पार्टी
Mukesh Kumar Sonkar
जलाना आग में ना ही मुझे मिट्टी में दफनाना
जलाना आग में ना ही मुझे मिट्टी में दफनाना
VINOD CHAUHAN
"तू ठहरा सूरज"
Dr. Kishan tandon kranti
कुदरत और भाग्य के रंग..... एक सच
कुदरत और भाग्य के रंग..... एक सच
Neeraj Agarwal
नील नभ पर उड़ रहे पंछी बहुत सुन्दर।
नील नभ पर उड़ रहे पंछी बहुत सुन्दर।
surenderpal vaidya
GOD BLESS EVERYONE
GOD BLESS EVERYONE
Baldev Chauhan
बस इतनी सी अभिलाषा मेरी
बस इतनी सी अभिलाषा मेरी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
लौट  आते  नहीं  अगर  बुलाने   के   बाद
लौट आते नहीं अगर बुलाने के बाद
Anil Mishra Prahari
जिंदगी में अगर आपको सुकून चाहिए तो दुसरो की बातों को कभी दिल
जिंदगी में अगर आपको सुकून चाहिए तो दुसरो की बातों को कभी दिल
Ranjeet kumar patre
चँचल हिरनी
चँचल हिरनी
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
हिन्दी पढ़ लो -'प्यासा'
हिन्दी पढ़ लो -'प्यासा'
Vijay kumar Pandey
दुआ नहीं होना
दुआ नहीं होना
Dr fauzia Naseem shad
*अपना अंतस*
*अपना अंतस*
Rambali Mishra
****** धनतेरस लक्ष्मी का उपहार ******
****** धनतेरस लक्ष्मी का उपहार ******
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
वक़्त ने किया है अनगिनत सवाल तपते...
वक़्त ने किया है अनगिनत सवाल तपते...
सिद्धार्थ गोरखपुरी
"राखी के धागे"
Ekta chitrangini
हाथ पर हाथ रखा उसने
हाथ पर हाथ रखा उसने
Vishal babu (vishu)
--पागल खाना ?--
--पागल खाना ?--
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
नारी हूँ मैं
नारी हूँ मैं
Kavi praveen charan
Loading...