Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Jan 2024 · 1 min read

-दीवाली मनाएंगे

-दीवाली मनाएंगे
प्रभु श्रीराम फिर से अयोध्या आएंगे
हम सेवक राम के
अपने-अपने घर को सजाएंगे।
मंगल कलश भर अक्षत
मिल मिलकर मंगल गीत गाएंगे
प्रभु राम फिर से अयोध्या आएंगे।।
पूज्य पूजने संत महात्मा
पवन अयोध्या धाम जाएंगे
वैदिक वेदों कर मंत्र जाप से
राम विग्रह की प्राण प्रतिष्ठा कराएंगे
प्रभु राम फिर से अयोध्या आएंगे।।
दीपक बाती घी भरकर,
रामदीप घर-घर जलाएंगे,
सत्य सनातन धर्म है हमारा,
भगवा ध्वजा लहराएंगे,
प्रभु राम फिर से अयोध्या आएंगे।।
राम आगमन के खुशियों की घड़ियां,
मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम हमारे,
हिंदू हिंदवासी सब सेवक उनके,
जगमग जगमग दीप जलाएंगे,
प्रभु श्रीराम फिर से अयोध्या आएंगे।।
मंगल भवन अमंगल हारी,
द्रवहु सो दशरथ अजर बिहारी,
भारत मां के आंगन में यह गाएंगे,
अब साल में दो बार दिवाली मनाएंगे,
प्रभु श्री राम फिर से अयोध्या आएंगे।।
-सीमा गुप्ता,अलवर राजस्थान

Language: Hindi
1 Like · 430 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
उतरे हैं निगाह से वे लोग भी पुराने
उतरे हैं निगाह से वे लोग भी पुराने
सिद्धार्थ गोरखपुरी
पाला जाता घरों में, वफादार है श्वान।
पाला जाता घरों में, वफादार है श्वान।
महेश चन्द्र त्रिपाठी
02/05/2024
02/05/2024
Satyaveer vaishnav
"तारीफ़"
Dr. Kishan tandon kranti
आबरू भी अपनी है
आबरू भी अपनी है
Dr fauzia Naseem shad
जब भी आया,बे- मौसम आया
जब भी आया,बे- मौसम आया
मनोज कुमार
मोहक हरियाली
मोहक हरियाली
Surya Barman
✍️ शेखर सिंह
✍️ शेखर सिंह
शेखर सिंह
बेटी और प्रकृति से बैर ना पालो,
बेटी और प्रकृति से बैर ना पालो,
लक्ष्मी सिंह
नकलची बच्चा
नकलची बच्चा
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
प्रेम की पेंगें बढ़ाती लड़की / मुसाफ़िर बैठा
प्रेम की पेंगें बढ़ाती लड़की / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
तेरी याद
तेरी याद
SURYA PRAKASH SHARMA
दृढ़ आत्मबल की दरकार
दृढ़ आत्मबल की दरकार
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
अधूरी बात है मगर कहना जरूरी है
अधूरी बात है मगर कहना जरूरी है
नूरफातिमा खातून नूरी
"आज का विचार"
Radhakishan R. Mundhra
मानवता
मानवता
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
जिधर भी देखो , हर तरफ़ झमेले ही झमेले है,
जिधर भी देखो , हर तरफ़ झमेले ही झमेले है,
_सुलेखा.
Expectation is the
Expectation is the
Shyam Sundar Subramanian
दोस्ती और प्यार पर प्रतिबन्ध
दोस्ती और प्यार पर प्रतिबन्ध
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
💐प्रेम कौतुक-529💐
💐प्रेम कौतुक-529💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*****जीवन रंग*****
*****जीवन रंग*****
Kavita Chouhan
सत्ता परिवर्तन
सत्ता परिवर्तन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
वादा
वादा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
*मोदी (कुंडलिया)*
*मोदी (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
2753. *पूर्णिका*
2753. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
🧟☠️अमावस की रात☠️🧟
🧟☠️अमावस की रात☠️🧟
SPK Sachin Lodhi
■ सर्वाधिक चोरी शब्द, भाव और चिंतन की होती है दुनिया में। हम
■ सर्वाधिक चोरी शब्द, भाव और चिंतन की होती है दुनिया में। हम
*Author प्रणय प्रभात*
मैं पलट कर नही देखती अगर ऐसा कहूँगी तो झूठ कहूँगी
मैं पलट कर नही देखती अगर ऐसा कहूँगी तो झूठ कहूँगी
ruby kumari
यादों को कहाँ छोड़ सकते हैं,समय चलता रहता है,यादें मन में रह
यादों को कहाँ छोड़ सकते हैं,समय चलता रहता है,यादें मन में रह
Meera Thakur
निर्झरिणी है काव्य की, झर झर बहती जाय
निर्झरिणी है काव्य की, झर झर बहती जाय
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...