Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Aug 2023 · 1 min read

*दिल में बसाई तस्वीर है*

दिल में बसाई तस्वीर है
*********************

दिल में बसाई तस्वीर है,
तुम से हमारी तकदीर है।

यूँ रूठ कर ना जाओ नशीं,
सुंदर खुदा की तहरीर हैं।

सुनता रहूँ चुप हो कर उसे,
लफ्जों लिखी तू तकरीर है।

यूँ देखते ही हम मर मिटे,
तीखी तराशी शमशीर हैं।

है चेहरा मनसीरत खिला,
अपहार रांझे की हीर है।
*********************
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
खेड़ी राओ वाली (कैथल)

390 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
खेल खिलाड़ी
खेल खिलाड़ी
Mahender Singh
आजकल / (नवगीत)
आजकल / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
हमसफ़र
हमसफ़र
अखिलेश 'अखिल'
दुनिया कितनी निराली इस जग की
दुनिया कितनी निराली इस जग की
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
पूछ लेना नींद क्यों नहीं आती है
पूछ लेना नींद क्यों नहीं आती है
पूर्वार्थ
निकला वीर पहाड़ चीर💐
निकला वीर पहाड़ चीर💐
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
*कहां किसी को मुकम्मल जहां मिलता है*
*कहां किसी को मुकम्मल जहां मिलता है*
Harminder Kaur
पिता
पिता
Shweta Soni
क्या मिटायेंगे भला हमको वो मिटाने वाले .
क्या मिटायेंगे भला हमको वो मिटाने वाले .
Shyamsingh Lodhi Rajput (Tejpuriya)
3111.*पूर्णिका*
3111.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
में बेरोजगारी पर स्वार
में बेरोजगारी पर स्वार
भरत कुमार सोलंकी
यादें
यादें
Tarkeshwari 'sudhi'
सुबह-सुबह की लालिमा
सुबह-सुबह की लालिमा
Neeraj Agarwal
दोहे : प्रभात वंदना हेतु
दोहे : प्रभात वंदना हेतु
आर.एस. 'प्रीतम'
अगर पुरुष नारी में अपनी प्रेमिका न ढूंढे और उसके शरीर की चाह
अगर पुरुष नारी में अपनी प्रेमिका न ढूंढे और उसके शरीर की चाह
Ranjeet kumar patre
राम के नाम की ताकत
राम के नाम की ताकत
Meera Thakur
#justareminderdrarunkumarshastri
#justareminderdrarunkumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
डॉ. नामवर सिंह की आलोचना के प्रपंच
डॉ. नामवर सिंह की आलोचना के प्रपंच
कवि रमेशराज
सविता की बहती किरणें...
सविता की बहती किरणें...
Santosh Soni
मुँहतोड़ जवाब मिलेगा
मुँहतोड़ जवाब मिलेगा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
फिर वही शाम ए गम,
फिर वही शाम ए गम,
ओनिका सेतिया 'अनु '
25)”हिन्दी भाषा”
25)”हिन्दी भाषा”
Sapna Arora
पंछियों का कलरव सुनाई ना देगा
पंछियों का कलरव सुनाई ना देगा
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
मंजिल एक है
मंजिल एक है
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
वाह क्या खूब है मौहब्बत में अदाकारी तेरी।
वाह क्या खूब है मौहब्बत में अदाकारी तेरी।
Phool gufran
*देखो ऋतु आई वसंत*
*देखो ऋतु आई वसंत*
Dr. Priya Gupta
Touch the Earth,
Touch the Earth,
Dhriti Mishra
...........,,
...........,,
शेखर सिंह
*छोड़ा पीछे इंडिया, चले गए अंग्रेज (कुंडलिया)*
*छोड़ा पीछे इंडिया, चले गए अंग्रेज (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
अपने चरणों की धूलि बना लो
अपने चरणों की धूलि बना लो
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
Loading...