Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Dec 2022 · 1 min read

दिल की दवा चाहिए

दिल के मरीज़ को
अब दवा चाहिए
अब कुछ और नहीं
तेरा प्यार चाहिए

याद करके तुझे
बढ़ रहा है ये मर्ज़ तो
तेरी इक नज़र का
मुझे अब जाम चाहिए

तस्वीर से भी अब
बात बनेगी नहीं
इस दिल को अब
तेरा दीदार चाहिए

जानता हूं मुश्किल है
तुम्हारे लिए भी
लेकिन रहने को अब
तेरा दिल चाहिए

तड़प रहा हूं अकेले ही मैं
अब तेरा सहारा चाहिए
चलने के लिए इस राह पर
तेरे प्यार के पांव चाहिए

छोड़ दो यूं तड़पाना
यूं बिजलियां गिराना
अब तेरी जुल्फों की
ठंडी छांव चाहिए

जी पाऊंगा मैं भी
कुछ सांसें उधार चाहिए
कुछ और नहीं अब
मुझे तेरा प्यार चाहिए

न बन जाए मेरा दर्द
कहीं लाइलाज अब
तेरे प्यार के मरहम से
अब इलाज चाहिए

ज़ख्म नासूर न बन जाए
इतनी दुआ चाहिए
रहे तेरे दिल के करीब हमेशा
हमें बस यही चाहिए

हो गया इंतज़ार बहुत अब
रह गई हैं सांसें भी अब कम
जी सकूं संग तेरे भी कुछ पल
चंद सांसों की मोहलत चाहिए।

Language: Hindi
10 Likes · 2 Comments · 1009 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बड़बोले बढ़-बढ़ कहें, झूठी-सच्ची बात।
बड़बोले बढ़-बढ़ कहें, झूठी-सच्ची बात।
डॉ.सीमा अग्रवाल
*यारा तुझमें रब दिखता है *
*यारा तुझमें रब दिखता है *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
#लघुकथा
#लघुकथा
*Author प्रणय प्रभात*
मैं अचानक चुप हो जाती हूँ
मैं अचानक चुप हो जाती हूँ
ruby kumari
होली की आयी बहार।
होली की आयी बहार।
Anil Mishra Prahari
अधूरी मोहब्बत की कशिश में है...!!!!
अधूरी मोहब्बत की कशिश में है...!!!!
Jyoti Khari
3206.*पूर्णिका*
3206.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मछली रानी
मछली रानी
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
***
*** " ये दरारों पर मेरी नाव.....! " ***
VEDANTA PATEL
मर मिटे जो
मर मिटे जो
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
सितारे अपने आजकल गर्दिश में चल रहे है
सितारे अपने आजकल गर्दिश में चल रहे है
shabina. Naaz
ग़ज़ल/नज़्म: एक तेरे ख़्वाब में ही तो हमने हजारों ख़्वाब पाले हैं
ग़ज़ल/नज़्म: एक तेरे ख़्वाब में ही तो हमने हजारों ख़्वाब पाले हैं
अनिल कुमार
उसे तो देख के ही दिल मेरा बहकता है।
उसे तो देख के ही दिल मेरा बहकता है।
सत्य कुमार प्रेमी
लुगाई पाकिस्तानी रे
लुगाई पाकिस्तानी रे
gurudeenverma198
बेटियां
बेटियां
Dr Parveen Thakur
अपना ख़याल तुम रखना
अपना ख़याल तुम रखना
Shivkumar Bilagrami
🙏 *गुरु चरणों की धूल*🙏
🙏 *गुरु चरणों की धूल*🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
💐प्रेम कौतुक-521💐
💐प्रेम कौतुक-521💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Moral of all story.
Moral of all story.
Sampada
"सुख के मानक"
Dr. Kishan tandon kranti
आया फागुन मदभरा, खिले लिली के फूल (कुंडलिया)*
आया फागुन मदभरा, खिले लिली के फूल (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मुझे आज तक ये समझ में न आया
मुझे आज तक ये समझ में न आया
Shweta Soni
ढलती हुई दीवार ।
ढलती हुई दीवार ।
Manisha Manjari
*** तुम से घर गुलज़ार हुआ ***
*** तुम से घर गुलज़ार हुआ ***
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
हमे यार देशी पिला दो किसी दिन।
हमे यार देशी पिला दो किसी दिन।
विजय कुमार नामदेव
साँसें कागज की नाँव पर,
साँसें कागज की नाँव पर,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
जन्म दिवस
जन्म दिवस
Jatashankar Prajapati
मेरी पेशानी पे तुम्हारा अक्स देखकर लोग,
मेरी पेशानी पे तुम्हारा अक्स देखकर लोग,
Shreedhar
प्यार की कलियुगी परिभाषा
प्यार की कलियुगी परिभाषा
Mamta Singh Devaa
अन्त हुआ आतंक का,
अन्त हुआ आतंक का,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...