Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Oct 2022 · 1 min read

दिल की तमन्ना

मेरे दिल की सब तमन्ना,
दिल की दिल में रह गई ।
एक नदी आंखों से निकली,
और यही कहीं पर बह गई ।।

क्या गिला और किससे करें,
सब के सब तो अपने थे ।
जो टूट के चकनाचूर हुए,
वो अल्हड़ से कुछ सपने थे ।।

फिर मिले तुम एक बार मुझे,
फिर से अब हसरत जाग उठी ।
दर्द सितम मेरे हिस्से में आया,
चलो तुमको मगर बहार मिली ।।

खुश रहना तुम सदा देखो,
ये शहर छोड़ हम जाते हैं ।
दिल की सारी हसरत को,
अब अश्कों में बहाते हैं ।।

2 Likes · 177 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
प्रतिध्वनि
प्रतिध्वनि
Er. Sanjay Shrivastava
फिर एक बार 💓
फिर एक बार 💓
Pallavi Rani
होकर उल्लू पर सवार
होकर उल्लू पर सवार
Pratibha Pandey
जिंदगी है कि जीने का सुरूर आया ही नहीं
जिंदगी है कि जीने का सुरूर आया ही नहीं
कवि दीपक बवेजा
#शेर-
#शेर-
*Author प्रणय प्रभात*
गणपति अभिनंदन
गणपति अभिनंदन
Shyam Sundar Subramanian
Quote...
Quote...
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
आ गया आंखों में
आ गया आंखों में
Dr fauzia Naseem shad
डोला कड़वा -
डोला कड़वा -
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
बाल कविता: तोता
बाल कविता: तोता
Rajesh Kumar Arjun
जीवन है चलने का नाम
जीवन है चलने का नाम
Ram Krishan Rastogi
पारो
पारो
Acharya Rama Nand Mandal
5
5"गांव की बुढ़िया मां"
राकेश चौरसिया
वर्णमाला
वर्णमाला
Abhijeet kumar mandal (saifganj)
लिखे क्या हुजूर, तारीफ में हम
लिखे क्या हुजूर, तारीफ में हम
gurudeenverma198
काम चलता रहता निर्द्वंद्व
काम चलता रहता निर्द्वंद्व
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
किसी नदी के मुहाने पर
किसी नदी के मुहाने पर
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
आज की सौगात जो बख्शी प्रभु ने है तुझे
आज की सौगात जो बख्शी प्रभु ने है तुझे
Saraswati Bajpai
कहानी,✍️✍️
कहानी,✍️✍️
Ray's Gupta
💐प्रेम कौतुक-316💐
💐प्रेम कौतुक-316💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
The sky longed for the earth, so the clouds set themselves free.
The sky longed for the earth, so the clouds set themselves free.
Manisha Manjari
सुनील गावस्कर
सुनील गावस्कर
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मां की ममता जब रोती है
मां की ममता जब रोती है
Harminder Kaur
दृढ़
दृढ़
Sanjay ' शून्य'
हमारा चंद्रयान थ्री
हमारा चंद्रयान थ्री
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
*छंद--भुजंग प्रयात
*छंद--भुजंग प्रयात
Poonam gupta
भैया दूज (हिंदी गजल/गीतिका)
भैया दूज (हिंदी गजल/गीतिका)
Ravi Prakash
धोखा मिला है अपनो से, तो तन्हाई से क्या डरना l
धोखा मिला है अपनो से, तो तन्हाई से क्या डरना l
Shyamsingh Lodhi (Tejpuriya)
इकबालिया बयान
इकबालिया बयान
Shekhar Chandra Mitra
Loading...