Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Aug 2016 · 1 min read

दर्द शहीद के परिवार का

छाती उस माँ की भी फ़टी होगी,
दुनिया उस बाप की भी लूटी होगी,
जिसका बेटा शहीद हो गया यहाँ।

चरणों को जब उसने छुआ होगा,
दर्द उस पत्नी को भी हुआ होगा,
जिसका पति शहीद हो गया यहाँ।

आँखें नम उस संतान की भी हुई होंगी,
दर्द की उसके तन मन में चुभी सुई होंगी,
जिसका बाप शहीद हो गया यहाँ।

ये किस मानवाधिकार आयोग के पास जाएँ,
कौन सुनेगा इनके दर्द को किस से आस लगाएँ,
जिनका सब कुछ शहीद हो गया यहाँ।

आंतकवादी में भटका इंसान नजर आ जाता है
पर इंसानों को मारता हैवान नजर नहीं आता है,
जिसके कारण कितने शहीद हो गए यहाँ।

शहादत पर घटिया ब्यान देने वाले भूल जाते हैं,
उन्हीं की वजह से हम रातों को चैन से सो पाते हैं,
जो हमारे लिए शहीद हो गए यहाँ।

मिले फुर्सत तो जाकर देखना दर्द उनका,
सुलक्षणा हो सके तो लिखना दर्द उनका,
जो हँसते हँसते शहीद हो गए यहाँ।

©® डॉ सुलक्षणा अहलावत

Language: Hindi
1008 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
आप हाथो के लकीरों पर यकीन मत करना,
आप हाथो के लकीरों पर यकीन मत करना,
शेखर सिंह
यूं साया बनके चलते दिनों रात कृष्ण है
यूं साया बनके चलते दिनों रात कृष्ण है
Ajad Mandori
हे मृत्यु तैयार यदि तू आने को प्रसन्न मुख आ द्वार खुला है,
हे मृत्यु तैयार यदि तू आने को प्रसन्न मुख आ द्वार खुला है,
Vishal babu (vishu)
सबसे बड़ा गम है गरीब का
सबसे बड़ा गम है गरीब का
Dr fauzia Naseem shad
रम्भा की मी टू
रम्भा की मी टू
Dr. Pradeep Kumar Sharma
#हाइकू ( #लोकमैथिली )
#हाइकू ( #लोकमैथिली )
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
स्वामी श्रद्धानंद का हत्यारा, गांधीजी को प्यारा
स्वामी श्रद्धानंद का हत्यारा, गांधीजी को प्यारा
कवि रमेशराज
*मिलना जग में भाग्य से, मिलते अच्छे लोग (कुंडलिया)*
*मिलना जग में भाग्य से, मिलते अच्छे लोग (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
बुढ़ापे में अभी भी मजे लेता हूं (हास्य व्यंग)
बुढ़ापे में अभी भी मजे लेता हूं (हास्य व्यंग)
Ram Krishan Rastogi
हे राम,,,,,,,,,सहारा तेरा है।
हे राम,,,,,,,,,सहारा तेरा है।
Sunita Gupta
बस यूँ ही
बस यूँ ही
Neelam Sharma
इश्क  के बीज बचपन जो बोए सनम।
इश्क के बीज बचपन जो बोए सनम।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
"अपनी माँ की कोख"
Dr. Kishan tandon kranti
यादें
यादें
Versha Varshney
मेरे मन के धरातल पर बस उन्हीं का स्वागत है
मेरे मन के धरातल पर बस उन्हीं का स्वागत है
ruby kumari
24/249. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
24/249. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
💐 Prodigy Love-13💐
💐 Prodigy Love-13💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*आँखों से  ना  दूर होती*
*आँखों से ना दूर होती*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
सत्संग शब्द सुनते ही मन में एक भव्य सभा का दृश्य उभरता है, ज
सत्संग शब्द सुनते ही मन में एक भव्य सभा का दृश्य उभरता है, ज
पूर्वार्थ
दोहा -स्वागत
दोहा -स्वागत
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
राम आ गए
राम आ गए
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
सहमी -सहमी सी है नज़र तो नहीं
सहमी -सहमी सी है नज़र तो नहीं
Shweta Soni
निर्वात का साथी🙏
निर्वात का साथी🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
दो पाटन की चक्की
दो पाटन की चक्की
Harminder Kaur
आतंकवाद
आतंकवाद
नेताम आर सी
व्यथा दिल की
व्यथा दिल की
Devesh Bharadwaj
■ परिभाषा...
■ परिभाषा...
*Author प्रणय प्रभात*
ग़ज़ल सगीर
ग़ज़ल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
देवों की भूमि उत्तराखण्ड
देवों की भूमि उत्तराखण्ड
Ritu Asooja
"इन्तेहा" ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
Loading...