Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Feb 2017 · 1 min read

दर्द भरा गीत

दर्द भरा नग़मा
:
बहुत गहरा है ये दरिया इसे तुम पार मत करना
मुहब्बत हो भी जाये तो कभी इज़हार मत करना
:
कोई मजनू बना देगा कोई राँझा बना देगा
कोई तो दिल से खेलेगा तो कोई जान ले लेगा
किसी भी हुस्न वाले पर कभी एतबार मत करना
मुहब्बत हो भी जाये तो कभी इज़हार मत करना
:
लिखा जाये जो अफ़साना तो मेरा नाम लिख देना
मुहब्बत मे हुवा मै भी बहुत बदनाम लिख देना
जो ज़िक्रे बे वफ़ा हो तो ये मेरा मशवरा सुन लो
किताबे बे वफ़ाई मे तुम उसका नाम लिख देना
भरोसा बे वफ़ाओं पे कभी ऐ यार मत करना
मुहब्बत हो भी जाये तो कभी इज़हार मत करना
:
वो इक दिन टूट जायेंगें जो तू सपने सँजोयेगा
ये तूफां इश्क़ का इक दिन तिरी क़श्ती डुबोयेगा
नहीं जो आज ये समझा वो इक दिन खुद ही रोयेगा
मुहब्बत प्यार में अश्क़ों कि वो लड़ियां पिरोयेगा
लगा के दिल किसी से जीना तुम दुश्वार मत करना
मुहब्बत हो भी जाये तो कभी इज़हार मत करना
:
यहां तड़पा हूं जैसे मै कोई तड़पा नहीं होगा
कि मंज़िल सामने होगी मगर रस्ता नहीं होगा
नज़र आती नहीं खुशियां फ़क़त ये ग़म क मेला है
हुवा बर्बाद वो आख़िर ये जिसने खेल खेला है
ये मेरी इल्तिज़ा है तुम किसी से प्यार मत करना
मुहब्बत हो भी जाये तो कभी इज़हार मत करना
:
आमिर क़मर सन्दीलवी

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Like · 741 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
प्यार है रब की इनायत या इबादत क्या है।
प्यार है रब की इनायत या इबादत क्या है।
सत्य कुमार प्रेमी
समय आया है पितृपक्ष का, पुण्य स्मरण कर लें।
समय आया है पितृपक्ष का, पुण्य स्मरण कर लें।
surenderpal vaidya
गलतियां ही सिखाती हैं
गलतियां ही सिखाती हैं
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
मधुर व्यवहार
मधुर व्यवहार
Paras Nath Jha
"आँखें"
Dr. Kishan tandon kranti
धरती का बेटा
धरती का बेटा
Prakash Chandra
खुशबू चमन की।
खुशबू चमन की।
Taj Mohammad
गीतिका
गीतिका
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
शिकारी संस्कृति के
शिकारी संस्कृति के
Sanjay ' शून्य'
जय जय नंदलाल की ..जय जय लड्डू गोपाल की
जय जय नंदलाल की ..जय जय लड्डू गोपाल की"
Harminder Kaur
मेरी कलम
मेरी कलम
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
बाल कविता: मछली
बाल कविता: मछली
Rajesh Kumar Arjun
तेरी - मेरी कहानी, ना होगी कभी पुरानी
तेरी - मेरी कहानी, ना होगी कभी पुरानी
The_dk_poetry
अजदहा बनके आया मोबाइल
अजदहा बनके आया मोबाइल
Anis Shah
अक्षय चलती लेखनी, लिखती मन की बात।
अक्षय चलती लेखनी, लिखती मन की बात।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
नीलेश
नीलेश
Dhriti Mishra
अस्तित्व
अस्तित्व
Shyam Sundar Subramanian
■ आज का शेर
■ आज का शेर
*प्रणय प्रभात*
अस्तित्व की तलाश में
अस्तित्व की तलाश में
पूर्वार्थ
@@ पंजाब मेरा @@
@@ पंजाब मेरा @@
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
*मेरी इच्छा*
*मेरी इच्छा*
Dushyant Kumar
महामानव पंडित दीनदयाल उपाध्याय
महामानव पंडित दीनदयाल उपाध्याय
Indu Singh
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
*साड़ी का पल्लू धरे, चली लजाती सास (कुंडलिया)*
*साड़ी का पल्लू धरे, चली लजाती सास (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
जिसके ना बोलने पर और थोड़ा सा नाराज़ होने पर तुम्हारी आँख से
जिसके ना बोलने पर और थोड़ा सा नाराज़ होने पर तुम्हारी आँख से
Vishal babu (vishu)
जिंदगी के तराने
जिंदगी के तराने
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
2782. *पूर्णिका*
2782. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
तुम किसी झील का मीठा पानी..(✍️kailash singh)
तुम किसी झील का मीठा पानी..(✍️kailash singh)
Kailash singh
अब किसका है तुमको इंतजार
अब किसका है तुमको इंतजार
gurudeenverma198
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Godambari Negi
Loading...