Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Apr 2023 · 1 min read

तेरी यादों की खुशबू

तेरी यादों की खुशबू में हम महकते रहते है,
जब जब तुझको देखते है बहकते रहते है।
अगर तेरा साथ मिल जाता हमे पूरी जिंदगी,
पक्षियों की तरह पूरी जिंदगी चहकते रहते।।

गुजर जायेगी तेरी गली में मुसाफिर की तरह,
सूंघ लेगे तेरी खुशबू हम एक भौंरे की तरह।
भले ही तू अपने घर से कभी न निकलना,
पकड़ लेंगे तुझे हम एक तितली की तरह।।

उनसे मिलना अब हमे जरूरी हो गया है,
उनको समझाना अब जरूरी हो गया है।
कब तक घूमते रहेंगे मुसाफिर की तरह,।
उनको पकड़ना हमे बहुत जरूरी हो गया।।

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

Language: Hindi
6 Likes · 10 Comments · 459 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ram Krishan Rastogi
View all
You may also like:
Sometimes…
Sometimes…
पूर्वार्थ
विश्व जनसंख्या दिवस
विश्व जनसंख्या दिवस
Bodhisatva kastooriya
यहां कश्मीर है केदार है गंगा की माया है।
यहां कश्मीर है केदार है गंगा की माया है।
सत्य कुमार प्रेमी
■ आज का अनुरोध...
■ आज का अनुरोध...
*Author प्रणय प्रभात*
केहिकी करैं बुराई भइया,
केहिकी करैं बुराई भइया,
Kaushal Kumar Pandey आस
कुंडलिया
कुंडलिया
sushil sarna
ब्याहता
ब्याहता
Dr. Kishan tandon kranti
सबने सब कुछ लिख दिया, है जीवन बस खेल।
सबने सब कुछ लिख दिया, है जीवन बस खेल।
Suryakant Dwivedi
गाए जा, अरी बुलबुल
गाए जा, अरी बुलबुल
Shekhar Chandra Mitra
“ मैथिली ग्रुप आ मिथिला राज्य ”
“ मैथिली ग्रुप आ मिथिला राज्य ”
DrLakshman Jha Parimal
मैं उसको जब पीने लगता मेरे गम वो पी जाती है
मैं उसको जब पीने लगता मेरे गम वो पी जाती है
कवि दीपक बवेजा
मैं तो निकला था,
मैं तो निकला था,
Dr. Man Mohan Krishna
यह जीवन अनमोल रे
यह जीवन अनमोल रे
विजय कुमार अग्रवाल
यादो की चिलमन
यादो की चिलमन
Sandeep Pande
जो बेटी गर्भ में सोई...
जो बेटी गर्भ में सोई...
आकाश महेशपुरी
मेरा आंगन
मेरा आंगन
Vishnu Prasad 'panchotiya'
वो आया इस तरह से मेरे हिज़ार में।
वो आया इस तरह से मेरे हिज़ार में।
Phool gufran
ऐसे न देख पगली प्यार हो जायेगा ..
ऐसे न देख पगली प्यार हो जायेगा ..
Yash mehra
****प्राणप्रिया****
****प्राणप्रिया****
Awadhesh Kumar Singh
बाबू जी की याद बहुत ही आती है
बाबू जी की याद बहुत ही आती है
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
रक्त के परिसंचरण में ॐ ॐ ओंकार होना चाहिए।
रक्त के परिसंचरण में ॐ ॐ ओंकार होना चाहिए।
Rj Anand Prajapati
ज़िंदगी को यादगार बनाएं
ज़िंदगी को यादगार बनाएं
Dr fauzia Naseem shad
23/117.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/117.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
धुँधलाती इक साँझ को, उड़ा परिन्दा ,हाय !
धुँधलाती इक साँझ को, उड़ा परिन्दा ,हाय !
Pakhi Jain
Dr Arun Kumar Shastri
Dr Arun Kumar Shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
वरदान है बेटी💐
वरदान है बेटी💐
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
हे विश्वनाथ महाराज, तुम सुन लो अरज हमारी
हे विश्वनाथ महाराज, तुम सुन लो अरज हमारी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
यादों के झरोखों से...
यादों के झरोखों से...
मनोज कर्ण
"दहलीज"
Ekta chitrangini
नादान प्रेम
नादान प्रेम
Anil "Aadarsh"
Loading...